Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। स्तनपान पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया।

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। भारतीय बाल रोग अकादमी द्वारा विश्व स्तनपान के अवसर पर  समृद्धि अस्पताल, पी रोड, कानपुर में स्तनपान पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ० जे०के० गुप्ता, डॉ० सुबोध बाजपेई ने किया।कार्यक्रम का संचालन करते हुए डॉ० जे०के० गुप्ता ने बताया माँ का दूध शिशु का पहला टीकाकरण है। जन्म के पहले घण्टे से ही माँ का दूध शुरू करायें और माँ के दूध के अतिरिक्त शहद, पानी, घुट्टी आदि शिशु को नही देना चाहिए। प्रथम तीन दिन होने वाला गाढ़ा दूध कोलोस्ट्रम, एंटीबोटीस व पोषण से परिपूर्ण होता है तथा इसे शिशु को जरूर पिलायें। 

    उन्होने बताया कि स्तनपान गरीब एवं कुपोषण का चक्र ताड़ने में भी सहायक है। माँ का पहला गाढ़ा पीला दूध शिशु को गम्भीर बीमारियों से बचाता है। इसलिए छः माह की आयु तक सिर्फ स्तनपान ही कराना चाहिए।डॉ० सुबोध बाजपेई ने बताया कि स्तनपान कराने वाली माँ को हल्का भोजन व पानी खूब पीना चाहिए। इसमें दलिया, हरी सब्जियाँ और एक गिलास दूध अनिवार्य रूप से होना चाहिए कि स्तनपान नवजात शिशु और माँ दोनों के लिए फायदेमंद है। स्तनपान कराने वाली महिलाओं को तनाव से मुक्ति मिलती है। और वह रोगमुक्त रहती है। स्तनपान कराने वाली महिलाओं को स्तन कैंसर और गर्भाशय में कैंसर का खतरा काफी हद तक कम होता है।इस अवसर पर (डॉ० अनुराग भारती) अध्यक्ष,(डॉ० सुबोध बाजपेई) सचिव,(डॉ० सविता रस्तोगी) संयोजिका उपस्थित हुए।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.