Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    प्रतापगढ़। कलियुग मे श्रीमद्भागवत कथा श्रवण करने से मिलता है मोक्ष-रश्मि किशोरी

    प्रतापगढ़। नगर पंचायत लालगंज स्थित संकटमोचन मैरेज हॉल में चल रही सात दिवसीय संगीतमयी श्रीमद्भागवत ज्ञानयज्ञ में श्रद्धालुआंे की भीड़ उमड़ रही है। बीते मंगलवार से शुरू हुई श्रीमद्भागवत कथा में कथाव्यास श्रीधाम वृन्दावन से पधारे रश्मि किशोरी श्रोताओं को भागवत कथा का संगीतमयी रसपान करा रही हैं। कथा के दूसरे दिन श्रद्धालुओं को कथा का रसपान कराते हुए कथाव्यास रश्मि किशोरी ने कहा कि समय पर गलती सुधार कर उसका प्रायश्चित कर लेने से वह गलती पाप की श्रेणी में नहीं आती है। 

    कथा प्रसंग को आगे बढ़ाते हुए कथा व्यास ने कहा कि राजा परीक्षित कलियुग के प्रभाव के चलते ऋषि से श्रापित हो गये। उसी के पश्चाताप में सुकदेव ने उन्हें उत्तम समाधान बताया। इस पर परीक्षित ने श्रीमद्भागवत कथा का श्रवण कर मोक्ष को प्राप्त किया। कथाव्यास ने कहा कि कलियुग मे श्रीमद्भागवत कथा का श्रवण परमात्मा की भक्ति प्राप्त कर मोक्ष प्राप्त करने का सबसे उत्तम उपाय है। कथा के दौरान बीच-बीच में राधा-कृष्ण के संकीर्तन से श्रद्धालु भगवत प्रेम में मंत्रमुग्ध दिखे। इस मौके पर राज मोदनवाल, चन्द्रेश शुक्ल, पूनम पाण्डेय, साकेत मिश्र, चन्द्रमणि शुक्ल, राजकुमार, वीरेन्द्र, सुखसागर, गगन कुमार, कुबेरपति मिश्र आदि मौजूद रहे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.