Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। व्यापारी रमेश खन्ना का पूरा लॉकर ही बैंक से गायब हो गया।

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया कराचीखाना शाखा में एक और बड़ा मामला सामने आया है।आज उत्तर प्रदेश प्रांतीय व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष व न्याय संघर्ष समिति के संयोजक अभिमन्यु गुप्ता के साथ सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया फीलखाना के लॉकर धारक व्यापारी रमेश खन्ना थाना फीलखाना पहुंचें और लिखित में शिकायत दी की उनका लॉकर ही बैंक से गायब है।लॉकर में लगभग 1किलो 900 ग्राम सोना था व अन्य जेवर थे। पीड़ित व्यापारी ने कोतवाली में डीसीपी पूर्वी के कार्यालय में भी आज ही शिकायत पत्र दे दिया।तिलक नगर निवासी व्यापारी रमेश खन्ना(उम्र 69) ने बताया की उनका और उनकी दादी स्व.देवकी देवी जी का संयुक्त  खाता सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया कराचीखाना शाखा कानपुर में है।साथ में लॉकर भी है।अकाउंट का नंबर 6249 है और लॉकर नंबर 391बी है।यह लॉकर लगभग 45 वर्ष से भी ज्यादा पुराना है जिसमें लगातार जेवर आदि रखा जाता रहा है। 

    उक्त लॉकर में उनके परिवार का  लगभग 1 किलो 900 ग्राम सोना,600 ग्राम चांदी व लगभग 6 कैरेट डायमंड था।कराचीखाना शाखा में लॉकर चोरी की घटना के बाद इस वर्ष जब वे 27 अप्रैल को बैंक गए तो उन्हें जवाब मिलता है की उनका लॉकर ही नहीं मिल रहा है। रमेश खन्ना ने कई बार संपर्क किया पर कोई जवाब नहीं दिया गया। रमेश खन्ना ने 15 जून 2022 को इस संबंध में बैंक को पत्र लिखा जिसका कोई जवाब बैंक ने नहीं दिया। रमेश ने फिर से 29 जून 2022 को पत्र लिखा और अभी तक कोई जवाब नहीं मिला।रमेश लगातार बैंक से जानकारी और दस्तावेज मांगते रहे पर बैंक ने कोई जानकारी या दस्तावेज नहीं दिया। रमेश ने यहां तक लिखा की अगर लॉकर बंद कर दिया गया है तो उसके दस्तावेज दे दो,तो उसका भी कोई जवाब नहीं मिला।रमेश ने व्यापारी नेता अभिमन्यु गुप्ता से मदद मांगी।रमेश खन्ना के साथ अभिमन्यु आज थाना फीलखाना गए और एसएचओ से तत्काल बैंक कर्मियों पर मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की मांग की। रमेश खन्ना को शक है की बैंक के पूर्व मैनेजर व लॉकर ऑपरेटर ने ही साथियों के साथ उनके पूरे लॉकर को ही गायब कर दिया है।अभिमन्यु गुप्ता ने बताया की रमेश खन्ना वरिष्ठ नागरिक हैं और लॉकर गायब होने की खबर के बाद से मानसिक रूप से बेहद परेशान व पीड़ा में हैं। उन्हें बड़ा आर्थिक नुकसान हुआ है।बैंक से वो लिखित में और मौखिक कई बार पूछ चुके हैं,पर बैंक की संवेदनहीनता देखिए की बैंक ने जवाब तक देने की जरूरत नहीं समझी।अभिमन्यु ने कहा की आज फीलखाना थाने में मुकदमा दर्ज करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया है। एसएचओ फीलखाना ने उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की न्याय दिलवाने  के लिए संघर्ष किया जाएगा। अभिमन्यु गुप्ता व रमेश खन्ना के साथ शुभ गुप्ता,सुनील काशीवार,अंकुर गुप्ता आदि थे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.