Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। पुलिस है पारस की मौत की जिम्मेदार : मनीषा पारस गुप्ता

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। उत्तर प्रदेश प्रांतीय व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता व न्याय संघर्ष समिति के संयोजक वरिष्ठ व्यापारी नेता पवन गुप्ता के नेतृत्व में व्यापारी व  पारस गुप्ता की पत्नी मनीषा गुप्ता,भाई पंकज व अन्य परिजन कानपुर के जिलाधिकारी से मिले और उनसे कहा की हरबंसमोहाल पुलिस पारस की मौत की जिम्मेदार है।जिलाधिकारी पूरी घटना को सुनकर सन्न रह गए और बोले की पारस व उनके परिवार के साथ गलत हुआ है।

    वो बोले की मैं इस मामले में मुआवजे और नौकरी की सिफारिश करूंगा और साथ ही कानपुर के पुलिस कमिश्नर से व्यक्तिगत अभी बात करके मामले को तेजी से आगे बढ़ाने को कहूंगा।जिलाधिकारी ने साथ ही कहा की अभियुक्तों की गिरफ्तारी के अलावा दोषी अधिकारियों पर भी कार्यवाही की जाएगी।पारस की पत्नी मनीषा ने भावुक होकर बताया की 18 मई को  पारस ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर मारपीट व जान से मारने की धमकी की शिकायत कर दी थी पर उसके बावजूद पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की और 25 मई को पारस की हत्या हो गई।पुलिस ने अपनी ड्यूटी निभाई होती तो आज पारस जीवित होते।मनीषा गुप्ता ने बताया की  18 मई को पारस को अभियुक्तों ने बहुत मारा था।मनीषा ने बताया की 25 मई को पारस के गुमशुदा होने पर जब वे और देवर हरबंसमोहाल थाने जाते तो थाना अपमानजनक व्यवहार करता और दुत्कारता था। दो महीने बीत गए और 27  जुलाई तक पारस की कोई जानकारी पुलिस से नहीं मिली और केवल अपमान होता था।27 जुलाई को जानकारी मिली की 25 मई को ही पारस का शव मिल चुका था और लावारिस में अंत्येष्टि कर दी गई थी।उसके बाद भी पुलिस पारस की मौत को हादसा बताती रही। 

    उप्र प्रांतीय व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की पारस की हत्या की जिम्मेदार पुलिस है इसलिए सरकार पारस के परिवार को मुआवजा दे और नौकरी भी।अभिमन्यु गुप्ता ने साथ ही कहा की मुख्यमंत्री के पोर्टल पर शिकायत आते ही तत्काल कार्यवाही होनी चाहिए वरना किसी को न्याय नहीं मिलेगा।अभिमन्यु गुप्ता ने पारस के परिवार के लिए 1 करोड़ के मुआवजे व नौकरी की मांग रखी।वरिष्ठ व्यापारी नेता व न्याय संघर्ष समिति के संयोजक पवन गुप्ता ने कहा की पारस के परिवार अब जीवनयापन के लिए परेशान है।बच्चों की फीस कैसे जमा होगी ये तक नहीं पता।पारस के परिवार को मुआवजा जरूर मिलना चाहिए और अभियुक्तों और जिम्मेदारों पर सख्त कार्यवाही।पवन गुप्ता ने कहा की परिवार में कोई कमाने वाला नहीं है और पारस के पिता का देहांत भी इस वर्ष हो गया है।

    जिलाधिकारी ने मुआवजे के लिए सिफारिश करने का आश्वासन देते हुए सभी दोषियों पर कार्यवाही करवाने का भी आश्वासन दिया। अभिमन्यु गुप्ता, पवन गुप्ता,पारस की पत्नी मनीषा गुप्ता,भाई पंकज गुप्ता,मनीष गुप्ता,आशीष गुप्ता,कृष्ण गोपाल,रिंकल गुप्ता,अमित गुप्ता,हिमांशु गुप्ता आदि थे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.