Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सम्भल। लंपी वायरस को लेकर चिकित्सकों ने ली ग्राम प्रधानों की बैठक।

    उवैस दानिश\सम्भल। लंपी वायरस को लेकर जहां पशुपालकों व चिकित्सकों में दहशत है। जिसकों लेकर चिकित्सको ने पशुपालकों, ग्राम प्रधानों की एक बैठक ली। जिसमें कहा कि पशुपालक इस बीमारी से घबराए नहीं बल्कि सफाई का विशेष ध्यान रखे। यदि किसी पशु में ऐसे लक्षण दिखाई दे। तो सरकारी चिकित्सको की सलाह लेकर उपचार कराए। इस बीमारी के प्रति जागरूक रहने की आवश्यकता है।

    देश के कई राज्यों में गायों और भैंसों में लंपी स्किन रोग वायरस का संक्रमण बढ़ता ही जा रहा है। वायरस की चपेट में आने से कई जगहों पर मवेशियों की मौत भी हो चुकी है। इनमें सबसे अधिक मौत गायों की हुई हैं। पशु चिकित्सकों के अनुसार लंपी स्किन रोग एक संक्रामक बीमारी है, जो वायरस की वजह से तेजी से फैलता है और कमजोर इम्यूनिटी वाली गायों को खासतौर पर प्रभावित करता है। अब तक इस बीमारी से दुधारू पशुओं को बचाने के लिए वैक्सीन भी नहीं बनी है। इसी को लेकर गुरुवार को नई तहसील स्थित सभागार में पशु चिकित्सकों ने ग्राम प्रधानों की बैठक लेकर ग्राम प्रधानों को जागरूक करते हुए लंपी वायरस से जागरूक रहने के निर्देश दिए बैठक में बताया गया कि पशुओं में लंपी वायरस के लक्षण दिखाई देने पर उन्हें अलग कर दें। उनके खानपान की चीजें भी अलग कर दें। पशुओं में लंपी वायरस होने से घबराए नहीं क्योंकि यह वायरस मानव जाति पर प्रभाव नहीं डालेगा।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.