Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मेरठ। राष्ट्रीय खेल दिवस के उपलक्ष्य मे डीएवीं में दो दिवसीय इण्टर स्कूल चेस टूर्नामेंट का आयोजन।

     ........ फोकस करने में सिटिंग पावर बढाने में मिलती है मदद -डीएम हापुड 

    मेरठ। सी.जे.डी.ए.वी. पब्लिक स्कूल, शास्त्रीनगर, में दो दिवसीय अन्तर्विद्यालयी शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ मुख्य अतिथि डी.एम. हापुड मेधा रूपम, डी.ए.वी की प्राचार्या डॉ. अल्पना शर्मा, सेक्रटरी डी.सी.एस.ए., डॉ. विनीत त्यागी, प्रसीडेंट डी.सी.एस.ए.  डॉ. अश्विनी गुप्ता, सतीश शर्मा पूर्व क्रीडा अधिकारी एव डॉ. संदीप त्यागी, सचिव क्रीडा भारती के करकमलों से दीप प्रज्वलित कर किया गया।

    डीएम हापुड मेधा रूपम  ने प्रतियोगिता में भाग ले रहे बच्चों को सम्बोधित करते हुए कहा कि शारीरिक एवं मानसिक को प्रोत्ससाहन के लिए चेस को बहुत जरूरी है और कहा और फ ोकस करने में सिटिंग पावर बढ़ाने में बहुत मदद मिलती है। वे खुद एक राष्ट्रीय स्तर की तैराक और शूटर हैं। उन्होंने प्रतियोगिता में भाग ले रही प्रतियोगिभागियों में एक के साथ चेस खेली। अपने साथ डीएम के साथ चेस खेलते हुए  डीएवी की छात्रा अन्न्या त्यागी काफी प्रसंन्न नजर आयी।  प्रतियोगिता में 41 विद्यालयों के लगभग 200 विद्यार्थियों ने भाग लिया। प्रतियोगिता का आयोजन पाँच वर्गों में अंडर - 17, 14, 11, 9, 7 में डिस्ट्रिक्ट चैस स्पोटर््स एसोसिएशन मेरठ तथा पी.ई.एफ.आई की तत्वाधान में किया गया।

    प्रतियोगिता का प्रारंभ करते हुए ए.आर.ओ. व डी.ए.वी. की प्राचार्या डॉ0 अल्पना शर्मा ने प्रतियोगिता संबंधी जानकारी प्रदान की बताया कि मानसिक विकास के लिए शतरंज का खेल एक महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वाह करता है, शतरंज एक ओर मानसिक दृढ़ता प्रदान करता है वहीं दूसरी ओर शांत चित्तता तथा अनुशासन भी सीखाता है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.