Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बिजनौर। दारु के नशे में सरकारी डॉक्टर का उत्पात।

    दिनेश कुमार प्रजापति \बिजनौर। सरकार भले ही स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने का लाख प्रयास करें लेकिन नशेड़ी डॉक्टरों की बदौलत स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से चरमरा गई है जो नशे की हालत में अन्य कर्मचारियों के साथ भी दुर्व्यवहार करते हैं। बरेली से ट्रांसफर होकर आया डॉक्टर दारू की बोतल लेकर अस्पताल में पहुंचा और अस्पताल में दारू पीकर लुढ़क गया। दारू के नशे में धुत होकर डॉक्टर का महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने का भी आरोप है।

    दरअसल पिछले एक माह पूर्व स्वास्थ्य विभाग द्वारा डॉक्टरों के बड़े पैमाने पर तबादले किए गए थे जिसमें बरेली से डॉक्टर गोपाल वर्मा को नजीबाबाद की सीएचसी समीपुर में भेजा गया था। अस्पताल कर्मियों की मानें तो डॉक्टर जॉइनिंग के बाद अवकाश पर चला गया था जो शुक्रवार को अपने साथियों के साथ अस्पताल में वापस आया । नवनियुक्त डॉक्टर आते ही चिकित्सा अधीक्षक के कमरे में बैठकर दारु पीने लगा और नशे में ही शैया पर लेट गया। किसी तरह पहले दिन तो कर्मचारियो ने मामला दबा लिया लेकिन आरोप है कि अगले दिन फिर से डॉक्टर नशे में धुत होकर डीपीएमयू यूनिट में पहुंच गया जहां पर महिला कर्मचारियों के साथ अभद्र व्यवहार किया गया। डॉक्टर की हरकत से परेशान महिला कर्मचारियों ने सुरक्षित वातावरण ना होने तक काम करने से इंकार कर दिया। अस्पताल में हंगामा बढ़ता देख अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के लोग भी पहुंच गए जिन्होंने महिला कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार करने पर डॉक्टर की जमकर क्लास लगाई। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने डॉक्टर को ना हटाने पर सीएमओ ऑफिस में ही धरने का ऐलान किया है। डॉक्टर ने नशे की हालत में वीडियो बनाने पर एक मीडिया कर्मी का भी पीछा किया जो बाल बाल बच गया।

    डॉक्टर जुबैर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.