Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। नानाराव पार्क बना सियासी अखाड़ा, नगर निगम में काबिज बीजेपी की मेयर ने लगाया पार्क में घूमने टहलने पर शुल्क, सपा ने शुरू किया पार्क में विरोध प्रदर्शन।

    ..........मॉर्निंग वॉकर बोले- इनकम टैक्स, GST समेत दे रहे हैं कई टैक्स, अब क्या पार्क में टहलने का भी देना होगा टैक्स?

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। नगर निगम के एक फैसले पर इन दिनों जमकर सियासत हो रही है। नगर निगम कार्यकारिणी की बैठक में महापौर प्रमिला पांडे और नगर आयुक्त ने ऐतिहासिक नाना राव पार्क में अब एंट्री पर शुल्क लगाने का निर्णय किया है। जिस पर कार्यकारिणी की बैठक में समाजवादी पार्टी के पार्षदों ने अपना विरोध जताया था। अब क्षेत्रीय समाजवादी पार्टी के विधायक अमिताभ बाजपेई ने इसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अमिताभ बाजपेई आज अपने समर्थकों के साथ नाना राव पार्क पहुंचे और सुबह-सुबह धरना दिया। अमिताभ बाजपेई का कहना है कि सरकार और नगर निगम स्वच्छ वायु पर भी टैक्स लगा रही है और यह दुर्भाग्यपूर्ण है। अमिताभ बाजपेई का कहना है कि किसी निजी मॉल में घूमने फिरने का कोई टैक्स नहीं लगता तो फिर नाना राव पार्क में मॉर्निंग वॉकर से और यहां टहलने आने वाले लोगों से शुल्क क्यों लिया जा रहा है? अमिताभ बाजपेई ने खुला चैलेंज दिया है कि उनके रहते नाना राव पार्क में घूमने और टहलने आने वाले लोगों से किसी भी कीमत पर एंट्री फी नहीं ली जा सकती। 

    वहीं समाजवादी पार्टी के विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर पुलिस पीएसी और नगर निगम के अधिकारी भी नाना राव पार्क में तैनात दिखे अपर नगर आयुक्त सूर्यकांत की माने तो समाजवादी पार्टी के विधायक नाना राव पार्क में शुल्क लिए जाने का विरोध कर रहे हैं। और इस बारे में नगर आयुक्त शरणप्पा जी एन और प्रमिला पांडे को सूचित किया जाएगा।

    नाना राव पार्क के मसले पर भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी में जमकर सियासत हो रही है। नगर निगम में काबिज बीजेपी की मेयर प्रमिला पांडे का कहना है कि इस ऐतिहासिक पार्क का 9 करोड़ 65 लाख रुपए से सुंदरीकरण कराया गया है। जिसके एवज में इसके मेंटेनेंस के तौर पर कुछ शुल्क यहां आने वाले लोगों से वसूला जाएगा लेकिन समाजवादी पार्टी के विधायक अमिताभ बाजपेई का कहना है कि जिम बदहाल है सिंथेटिक ट्रैक टूटा हुआ है। लाइट टूटी और बिखरी पड़ी हुई है। ऐसे में यहां टहलने आने वाले लोगों से किसी भी तरह का शुल्क नहीं लिया जाना चाहिए। साफ है आने वाले दिनों में नाना राव पार्क सियासी अखाड़ा बनने जा रहा है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.