Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    वाराणसी। पुलिस ने दिया मयंक को न्याय दिलाने का आस्वासन तब छात्रों ने बंद किया विरोध प्रदर्शन।

    वाराणसी। केंद्रीय विद्यालय बीएचयू में कक्षा नौ के छात्र मयंक यादव की आत्महत्या के बाद धरना-प्रदर्शन शुरू हो गया है। मंगलवार सुबह सात बजे स्कूल के ड्रेस में दर्जनों की संख्या में पहुंचे छात्र मयंक की बड़ी बहन तनीषा के साथ मुख्य गेट बंद कर धरने पर बैठ गए। न्याय की मांग वाली तख्ती लेकर छात्रों का विरोध प्रदर्शन शुरू होने के बाद प्रिंसिपल और प्राक्टोरियल बोर्ड के सदस्य पहुंचे। सभी ने विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों को समझा कर गेट खुलवाने का प्रयास किया लेकिन छात्र उनकी बातों को अनसुना कर आरोपी वाइस प्रिंसिपल के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर अड़ गए। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे एसीपी भेलूपुर प्रवीण कुमार ने छात्रों से बातचीत कर गेट खुलवाने और धरना खत्म कराने का प्रयास किया। 

    बीएचयू केंद्रीय विद्यालय का गेट बंद कर छात्रों ने दिया धरना

    तब भी छात्र बिना कार्रवाई हुए धरना खत्म करने के लिए तैयार नहीं हुए। इसके बाद एसीपी भेलूपुर ने प्रिंसिपल से बातचीत कर घटनाक्रम की जानकारी ली। दोपहर 12 बजे एसीपी भेलूपुर ने छात्रों को मयंक को न्याय दिलाने का आश्वासन देकर धरना खत्म कराया। परिजनों का आरोप है कि स्कूल में गलती से मोबाइल लेकर चले जाने पर शिक्षकों और प्रिंसिपल ने अपमानित और प्रताड़ित किया। क्लास से सस्पेंड कर दिया। इसी तनाव में उसने खुदकुशी की है। उधर विद्यालय के प्रिंसिपल ने आरोप को निराधार बताते हुए कहा कि छात्र विद्यालय में वीडियो बना रहा था। इस पर उसे केवल समझाया गया था। बीएचयू कृषि विज्ञान संस्थान में कार्यरत पिता संतोष ने बताया कि कुछ दिन पहले वाइस प्रिंसिपल ने विद्यालय में वीडियो बनाने का आरोप लगाकर बच्चे को डांट लगाई थी और उसे क्लास में आने से मना कर दिया था।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.