Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बैतूल। विदिशा के लटेरी कांड से वनकर्मी नाराज ,फारेस्ट के अधिकारियों और कर्मचारियों ने किये हथियार सरेंडर, अधिकारी बोले अगर ऐसा रहा तो वर्दी भी करेंगे जमा।

    शशांक सोनकपुरिया\बैतूल। मध्य प्रदेश के बैतूल में वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी कर्मचारियों में  भी सरकार के खिलाफ आक्रोश देखने में आया है। इसी के चलते  मंगलवार को वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों के विभिन्न संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया साथ ही उन्हें मिले शासकीय हथियार उन्होंने विरोध स्वरूप जमा कर दिए ।

    बैतूल में रेंजर एसोसिएशन और वन एवं वन्य प्राणी कर्मचारी संरक्षण संघ के अलावा अन्य संगठनों ने सीसीएफ कार्यालय में विरोध प्रदर्शन कर सीसीएफ एके सिंह को ज्ञापन सौंपा इसके अलावा जिला प्रशासन को भी ज्ञापन सौंपा गया। 

    आपको बता दें कि  9 अगस्त 2022 को विदिशा जिले के वन परिक्षेत्र दक्षिण लटेरी खटियापराए जंगल में कुख्यात वन माफियाओं गिरोह के साथ सागौन की लकड़ी की तस्करी और अवैध कटाई को रोकने के लिए लटेरी के वन अमले और अपराधियों के मध्य हुई मुठभेड़ में कुख्यात अपराधी जिसके विरुद्ध पूर्व से प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन हैं । उसकी मृत्यु होने के कारण शासकीय कर्तव्य के दौरान वन सुरक्षा हेतु तैनात वन अमले पर राजनैतिक एवं शासन के दबाव के चलते विदिशा पुलिस प्रशासन ने नियम विरुद्ध तरीके से बिना न्यायिक जांच के वन विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज करके गिरफ्तारी उपरांत जेल अभिरक्षा में भेजा गया है ।

    इसको लेकर वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों में नाराजगी है और वह अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं । उनका मानना है कि उन्हें जो शासकीय हथियार मिले हैं वह वनों की रक्षा के लिए मिले हैं और जब वनों की रक्षा करने पर इस तरह की कार्रवाई हो रही है तो इन हथियारों का कोई मतलब नहीं है । इसलिए इन हथियारों को जमा कर दिया है ।अगर उनकी मांगे पूरी नहीं होती है तो आने वाले समय में वे प्रदेश व्यापी हड़ताल करेंगे। शासकीय अस्त्र शस्त्र जमा करने लगभग 200 वनकर्मी  जिले भर से आये जिनमे रेंजर ,डिप्टी रेंजर और बीट गार्ड शामिल थे।

    एके सिंह (सीसीएफ बैतूल)


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.