Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    नैमिषारण्य\सीतापुर। नैमिष में आनंद भयो जय कन्हैया लाल की।

    नैमिषारण्य\सीतापुर। अठ्ठासी हजार ऋषियों की तपोभूमि नैमिषारण्य में भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव को धूमधाम से मनाया गया । इस मौके पर मंदिरों को रंगबिरंगी झालरों, फूलों और लड़ियों से सजाया गया । शुक्रवार को रात्रि को वेद मन्त्रों के बीच भगवान का प्राकट्य मनाया गया। 

    रात्रि बारह बजते ही बालकृष्ण की मूर्ति को गंगा जल से स्नान कराया गया । पुनः दूध, दही, घी, शर्करा एवं शुद्ध जल से स्नान कराया गया । स्नान के बधाई लड्डूगोपाल को नए वस्त्र पहनाकर उनका आरती पूजन किया गया । ललिता देवी मंदिर में पुजारी अटल बिहारी शास्त्री द्वारा माँ ललिता की आरती उतारी गयी और भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के अवसर पर उनका आह्वान कर पंचामृत भोग अर्पित किया । भूतेश्वर नाथ मंदिर में चक्रतीर्थ पुजारी राजनारायण पांडेय के सानिध्य में मन्दिर प्रांगण में कान्हा का जन्मोत्सव मनाया गया । इस दौरान बाबा भूतेश्वर नाथ का फूलों और गुब्बारों से विशेष श्रृंगार किया गया और छप्पन भोग लगाया गया । इसी क्रम में सूत गद्दी मन्दिर में प्रबन्धक मनीष शास्त्री के द्वारा कृष्ण जन्मोत्सव का आयोजन किया गया । 

    वही प्राचीन मनु सतरूपा तपस्थान में प्रबन्धक ऋतवृत शास्त्री द्वारा  कालीपीठ संस्थान में कालीपीठाधीश गोपाल शास्त्री द्वारा धूमधाम से जन्माष्टमी पर्व मनाया गया । महाकाली मंशा देवी मंदिर में महंत बिहारीलाल द्वारा, ललिता आश्रम में पुजारी लाल बिहारी शास्त्री द्वारा श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया । तीर्थ के निवासियों ने भी अपने अपने घरों में श्रद्धा से श्री कृष्ण का प्रकटोत्सव मनाया ।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.