Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पलवल। होडल भीमराव अंबेडकर की मूर्ति तोड़ी।

    ऋषि भारद्वाज\पलवल। होडल के गांव सौन्दहद स्थित चमनकुंड मंदिर पर स्थापित डा.भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा की गर्दन तोडे जाने के मामले को लेकर गांव में तनाव बढ़ गया है। इसी मंदिर में तीन महीने पहले 14 अप्रैल को भी यह अंबेडकर की मूर्ति को तोड़ा गया था और जिला प्रशासन द्वारा इसको दोबारा स्थापित किया गया लेकिन आज रात को फिर इस दूसरी मूर्ति की गर्दन को ही अलग कर दिया। लोगों ने  मामले में लिप्त दोषियों के खिलाफ कार्रवाई  करने के लिए कहा। सूचना के बाद उपमंडल अधिकारी डाक्टर चिनार , होडल डी एस पी सज्जन सिंह, मुडकटी थाना पुलिस मौके पर पहुंची  । पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर    पुलिस ने उन युवकों को चौबीस घंटे के अंदर ही गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया। प्रशासन द्वारा दूसरी मूर्ति स्थापित करने का आश्वासन दिया। लेकिन यह हैरानी की बात है की दूसरी बार इसी जगह पर दूसरी मूर्ति तोड़ी जा चुकी है।

    होडल के गांव सौंध में तीन महीने के अंदर एक ही जगह से  दूसरी बार डाक्टर भीम राव अंबेडकर की प्रतिमा को तोड़ दिया है। इस मामले को लेकर गांव में तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। जैसे ही इस मामले की जानकारी जिला प्रशासन और पुलिस विभाग को लगी तो होडल उपमंडल अधिकारी डाक्टर चिनार, डी एस पी होडल के साथ मुड़कटी थाना पुलिस,होडल थाना पुलिस मौके पर पहुंची। लेकिन यह हैरानी की बात है कि  दो बार से इसी जगह से डाक्टर भीम राव अंबेडकर की प्रतिमा को खंडित किया जा रहा । जब 3 महीने पहले इसी जगह पर अंबेडकर की प्रतिमा को खंडित कर तोड़ा गया और पहले भी इसी मामले में महापंचायत की गई और जिला प्रशासन द्वारा दूसरी प्रतिमा  लगवाई गई। इस प्रतिमा के चारों तरफ लोहे की जाली लगवाई गई। और ताला बंदी की गई और उसके बाद भी फिर दोबारा से इस प्रतिमा की गर्दन को ही अलग कर दिया है। मौके पर पहुंची पुलिस ने मूर्ति से अलग किए गए सर की काफी इधर उधर खोजा लेकिन कहीं  पर भी नही मिला। मौके पर पहुंची उपमंडल अधिकारी     डाक्टर चिनार ने कहा की यह घटना पहले भी हो चुकी है और  आज भी किसी शरारती  तत्वों ने प्रतिमा के  सर को अलग कर दिया है । उन्होंने बताया की इसके लिए उन्होंने पुलिस को निर्देश दिए हैं की जो भी इस मामले में लोग शामिल हैं उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करें और आरोपियों को जल्द से जल्द खुलासा करें। उन्होंने कहा में वह अपने उच्च अधिकारियों से बात करके अंबेडकर की नई प्रतिमा स्थापित की जाएगी।  वहीं मौके पर पहुंचे होडल डी एस पी सज्जन सिंह ने कहा की इस तरह की  घटना पहले भी हो चुकी है और पहले भी यह मूर्ति तोड़ी जा चुकी है उसके बाद यह नई प्रतिमा लगवाई हैं लेकिन फिर से इसको तोड़ दिया गया है। डी एस पी ने भी माना की उनसे इस मामले में पहले कुछ चूक हुई है लेकिन अब गांव के लोगों की शिकायत के आधार पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।  वहीं गांव के लोगों ने कहा की अगर पुलिस  जिन लोगों ने प्रतिमा तोड़ी थी उनको गिरफ्तार कर लिया जाता तो यह दूसरी बार घटना नहीं होती। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.