Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। राजगोपाल मन्दिर:जहां पर 2 कुंतल चांदी के बने झूले पर झूला झूल रहे सिया सरकार।

    अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या में झूलनोत्सव अपने चरम पर है। अयोध्या के मंदिरों को रंग विरंगे लाइटों व फूल मालाओं से सजाएं गया हैं। अयोध्या के सभी मंदिरों में इस उत्सव की अनोखी परंपरा निभाई जा रही है। वहीं अयोध्या का एक ऐसा मंदिर जहां पर 2 कुंतल चांदी के बने झूले पर सिया सरकार झूला झूल रहे हैं। और इस मंदिर को आम श्रद्धालुओं के लिए महज पांच घण्टे के लिए ही खोला जाता है। राम जन्मभूमि से महज 1 किलोमीटर पर स्थित राज गोपाल मंदिर में सैकड़ों वर्षों से झूलनोत्सव की अनोखी परंपरा का निर्वाह किया जा रहा है। प्रति दिन चांदी के इस झूले सहित भगवान का श्रृंगार किया जाता है। मंदिर परिसर के 5 पुजारी रोज भगवान का श्रृंगार अभिषेक श्रृंगार करते और अन्य पुजारी उनके इस चांदी के सिंघासन को उत्सव के लिए अलग अलग इत्र से महकाते और फूलों से सजाते है। और शाम होते ही मंदिर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों से गुलजायमान हो जाता है।

    मंदिर के प्रशासनिक अधिकारी शरद शास्त्री के मुताबिक अयोध्या में झूलनोत्सव की यह परंपरा सैकड़ों वर्षो से निभाया जा रहा है। आज भी चांदी के झूले पर भगवान का उत्सव होता है। और प्रतिदिन इस मंदिर में श्रद्धालुओं को दर्शन कराए जाने के लिए शाम को 5 घण्टे ही खुलता है। इस पूरे दिन बड़े ही विधि विधान से इस मंदिर में भगवान का पूजन अर्चन चलता है। इस मंदिर की मनमोहक भगवान का स्वरूप के सामने सांस्कृतिक अयोजन, गीत संगीत किया जाता है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.