Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सण्डीला\हरदोई। नाली निर्माण में जिलाधिकारी का आदेश दरकिनार, मनमानी पर उतरे EO, JE और ठेकेदार, मुख्यमंत्री से लगाई गुहार......

     विजयलक्ष्मी सिंह (एडिटर-इन-चीफ)

    सण्डीला\हरदोई। देखरेख के अभाव में नगर पालिका सण्डीला के अधिकारी और ठेकेदार मनमानी करने पर उतारू हो गए हैं, ऐसा आरोप गली वासी लगा रहे हैं। नाली-सड़क के निर्माण को लेकर मुहल्ले के लोगों में गुस्सा सिर चढ़कर बोल रहा है। 

    गली बनी तालाब, बीच मे ही पड़ा मलवा

    आपको बता दें कि नगर पालिका परिषद सण्डीला द्वारा वार्ड नं0-9 (मुख्य मार्ग से निकट बरोनी चुंगी) मे मैन रोड से जावेद रब्बानी के मकान तक लगभग 90 मीटर सड़क व नाली की चेयरमैन व जेई द्वारा नपाई की गयी थी। उसकी स्वीकृत भी हो गई, इस कार्य को जेई गौरव शुक्ला व ठेकेदार सफीक बिल्डर उर्फ डबलू द्वारा कराया जा रहा है। जिसको लेकर वहाँ के मकान मालिको के घरो पर नगर पालिका की तरफ से नोटिस भी चिपका दी गई। 

    लेकिन नाली व सड़क जावेद रब्बानी के मकान तक न बना कर बीच से ही दूसरी तरफ (नसीम के मकान) को मोड दी गई। लगभग 30 मीटर सड़क तालाब बनने के लिए छोड़ दी, जिससे गली में रह रहे लोगों के घरों में पानी भरने लगा है, लोगों का निकलना मुश्किल हो गया,कई बार स्कूल जाते हुए बच्चे उसमे गिर चुके है। पूरी गली तालाब बन गई है, यह गंभीर जांच का विषय है। 

    नोटिस की जस्पा, 30 मी॰ छूटी गली का नजारा 

    शिकायतकर्ताओं का कहना है कि कार्य प्रारम्भ करने के पहले हम लोगों की गली में जो पहले नपाई की गयी थी। जेई व ठेकेदार मेसर्स सफीक बिल्डर उर्फ डबलू द्वारा नोटिसे भी गली के मकानों पर चपकायी गयी थी वह भी मौके पर अब भी चपकी हैं अब नाली व सड़क को ऊँचा करके दूसरी तरफ मोड कर निर्माण कराया जा रहा है। जो सरासर गलत है। और जो 30 मी॰ का टुकड़ा छोड़ रहे है, उसमे घर से निकलने वाला पानी जमा हो रहा है हम चाहते हैं उसे बनाया जाए, और जो रोड बनाई जा रही है उसे 6 इंच रेम्प मे बनाई जाए व नाली की सतह से 12 इंच गहरी की जाए। जिससे 30 मी॰ गली मे रहने वालों का तथा बाबा हजारा नवा चक मे रहने वाले 200 से 250 परिवारों के पानी का निकास आसानी से हो सके। 


    • जिलाअधिकारी से की शिकायत,  जिलाअधिकारी ने EO रूद्र प्रताप सिंह  को दिए जांच के आदेश। 
    जिला अधिकारी को लिखित शिकायती पत्र देते हुए बताया कि जो  वार्ड नं0-9 मे जो जेई गौरव शुक्ला व ठेकेदार सफीक बिल्डर उर्फ डबलू द्वारा सड़क व नाली बनाई जा रही है। वह नेता नगरी के चलते उसे और ही रूप दिया जा रहा है इस पर जिला अधिकारी ने EO को तत्काल जांच के आदेश दिये थे। 

    • Eo रूद्र प्रताप सिंह ने जिलाअधिकारी के आदेश को किया दरकिनार 
    जिला अधिकारी के आदेश पर भी EO रूद्र प्रताप सिंह मौके पर जाकर भी गली वासियो की समस्याओं का निदान न कर ठेकेदार से जेसे तेसे काम को जल्दी ख़त्म करने को कहा। 

    दूसरी तरफ मोड़ी गई सड़क, लेबल से ऊंची बनाई नाली व सड़क 
    • मिली भगत के चलते रोड का नक्शा बदला। 

    मुख्य मार्ग (हरदोई रोड) से जावेद रब्बानी के मकान तक 90 मी॰ सड़क पास हुई थी जिसको JE, ठेकेदार और चेयरमैन व EO की मिलीभगत से रोड एस्टिमेट पर जावेद रब्बानी का नाम हटा कर नसीम के मकान तक कर दिया। यही नहीं उस रोड को 3.50 फीट ऊंचा कर के निर्माण करा रहे है,जो मकानो की बुनियाद से काफी ऊंचा हो रहा है जिससे गली वासियो को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। और आप समझ सकते है कि 90 मी॰ के आगे रहने वालो के लिए भविष्य मे वो रास्ता तो तालाब होगा। 

    90 मी॰ के आगे रहने वालो का  भविष्य
    जेई व ठेकेदार सफीक बिल्डर उर्फ डबलू दिखा रहे दबंगई। 

    यह कार्य जेई गौरव शुक्ला व ठेकेदार सफीक बिल्डर उर्फ डबलू द्वारा कराया जा रहा है। ठेकेदार व जेई कहते हैं तुम्हें जो करना है वो करो हम जहां से चाहेंगे वहीं से नाली बनेगी। ठेकेदार द्वारा अश्लील व अभद्र भाषा का प्रयोग भी निर्माण कार्य के दौरान किया गया। इन सब की मिलीभगत से मोहल्ले वासियों को सताने का काम किया जा रहा है।
    लेबल से ज्यादा किया ऊंचा 
    • ठेकेदार व जेई मिलकर बदल दिया पानी का रास्ता, जो 20 सालों से पानी निकल रहा है। 
    गली वासियों ने बताया हम लोगों का 20 सालों से पानी निकल रहा था आज भी उधर निकल रहा है। अब ठेकेदार व जेई मिलकर पानी निकलने का रास्ता बदल रहे हैं व पानी का निकास बन्द कर रहे हैं। 
    • ई०ओ० रूद्र प्रताप सिंह का कहना है मकानों के पाइप व मकान ऊँचे कर लो, नाली वहीं बनेगी। 
    गली वासियों ने कहा कि जब जेई साहब से फोन करके हमने पूछा तब जेई साहब ने हमें फोन पर बताया कि ई०ओ० साहब (रूद्र प्रताप सिंह ने कहा कि मकानों के पाइप व मकान ऊँचे करा लिये जायें ठेकेदार व जेई जो ई०ओ० साहब से बताते हैं, वह ई०ओ० साहब करते व बोलते हैं जबकि ई०ओ० साहब व चेयरमैन ने मौके का सर्वे अब तक नहीं किया है। 
    वैध मकानों पर चलवाया बुल्डोजर 
    • जेई व ठेकेदार द्वारा वैध मकानों पर बुल्डोजर चलवाया, अवैध निर्माण को छोड़ दिया। 
    अब सोचने वाली बात यह है कि जहां नाली व रोड का कोई लेना देना नहीं और वैध निर्माण पर बुल्डोजर चलवा दिया और जो अवैध निर्माण थे उन पर  ठेकेदार को रहम आ गया, कहा कि यह सब हमारे लोग हैं।
    • गली वासियों का अधिकारियों से अनुरोध

    जो पानी पिछले 20 सालों से जिस तरफ और जिस निचायी से निकल रहा था उसी तरह उसी निचायी से निकाला जाये, नाली व सड़क का निर्माण गली वासियों के मकानों के नीचे से किया जाये। सड़क व नाली का निर्माण ऊँचा न किया जाये ऊँचा करने से हम गली वासियों के घरों में पानी भरेगा। मौके की तत्काल जांच कराकर समस्या का निदान कर और ऐसे जेई व ठेकेदार पर जांच कर कार्यवाही की जाए। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.