Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहांपुर। स्वास्थ्य विभाग में कोविड-टीकाकरण करण के दौरान भ्रष्टाचार के आरोप।

    • कई शिकायतों के बावजूद जांच में हो रही लीपापोती
    • मुख्य चिकित्सा अधिकारी पर भी लग रहे गंभीर आरोप
    फै़याज़ उद्दीन\शाहजहांपुर। योगी सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ ज़ीरो टॉलरेंस की नीति पर चलने का दावा कर रही है इसी नीति के तहत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कार्रवाई भी करते है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार हो और फिर लगातार 7 महीने से शिकायतों के बावजूद कारवाई न होने पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर सबाल खड़े हो रहे है। यहां पिछले 7 माह से कोविड-टीकाकरण के दौरान भुगतान के नाम पर हुए लाखों के गोलमाल की शिकायत ऑल इंडिया आशा बहू कार्यकत्री संगठन की जिला अध्यक्ष कमलदीप कौर लगातार करती चली आ रहीं हैं। इन्होंने मई माह में जिला अधिकारी को ज्ञापन के माध्यम से मुख्य चिकित्सा अधिकारी और ददरौल सीएचसी के प्रभारी अमरीश पर मनमाने तरीके से एक एक व्यक्ति के नाम टीकाकरण के बहाने एक -एक लाख रुपए खाते पर डाल कर गबन करने का आरोप लगाया है। 


    ऑल इंडिया आशा बहू कार्यकत्री जिला अध्यक्ष यहीं नहीं रूकी उन्होंने महिला आयोग की सदस्य सुनीता बंसल को भी एक प्रार्थना पत्र देते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा एबीडी मलखान के खाते पर एक लाख रुपए एबीडी अमन के खाते पर 89000 हजार रुपए, प्रदीप कुमार के खाते पर 83000 हजार रुपए सहित कई खातों पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा  टीका करण के नाम पर धनराशि खाते में भेज कर गोलमाल करने का आरोप लगाया है।कमलदीप कौर ने जब जिला स्तर पर कार्रवाई नहीं हुई तो स्वास्थ्य विभाग के मुखिया उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक से मिलकर 15 मई को उनके हाथ में एक शिकायती प्रार्थना पत्र सौंपकर कार्रवाई की मांग कर चुकी है। लेकिन जिला स्तर पर आज भी जांच में लीपापोती चल रही है। कमलदीप कौर ने बताया कि इस मामले में अगर गहनता से जांच की जाए तो कोविड- टीकाकरण के नाम पर बड़ी गड़बड़ी करते हुए चिकित्सा विभाग में किया गया बड़ा घोटाला सामने आ जायेगा। उन्होंने बताया कि जिला अधिकारी को दिए गए प्रार्थना पत्र की जांच उप जिला अधिकारी सुप्रिया गुप्ता को दी गई थी, जो आज भी दबी पड़ी है। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी पर आरोप लगाते हुए कहा की मुख्य चिकित्सा अधिकारी मनमाने ढंग से लोगों को भुगतान करवाकर भ्रष्टाचार में स्वयं सम्मिलित है।कमलदीप कौर ने टीवी रोगियों के नाम पर भी फर्जी धनराशि निकालकर बंदरबांट करने का आरोप लगाया है। फिलहाल उक्त प्रकरण की अगर सही से जांच की जाए तो वर्तमान सीएमओ के द्वारा किया गया एक बड़ा घोटाला निकल कर सामने आ सकता है। जो भी आरोप लगाए गए हैं वह निराधार हैं उनकी जांच करवाई गई लेकिन आरोपों में कोई सच्चाई नहीं पाई गई।

    डॉ. एसपी गौतम मुख्य चिकित्साधिकारी शाहजहांपुर


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.