Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    श्रावस्ती। जिलाधिकारी के अध्यक्षता में द्वितीय सड़क सुरक्षा समिति एवं जिला विद्यालय यान परिवहन सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न।

    ....... विद्यालयों के प्रबन्धक वाहन एवं वाहन चालकों के दस्तावेजों का अनिवार्य रूप से करें सत्यापन-जिलाधिकारी।

    ...... वाहन चलाते समय सीट बेल्ट/हेलमेट का प्रयोग करें जनपदवासी-पुलिस अधीक्षक।

    सर्वजीत सिंह\श्रावस्ती। जिलाधिकारी नेहा प्रकाश एवं पुलिस अधीक्षक अरविन्द कुमार मौर्य की अध्यक्षता में द्वितीय सड़क सुरक्षा समिति एवं जिला विद्यालय यान परिवहन सुरक्षा समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने जिलें में यातायात नियमों का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराये जाने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया।

    बैठक में जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि जनपद में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने हेतु चिन्हित ब्लैक स्पॉटो पर कमेटी गठित कर दुर्घटना के कारणों का पता लगाया जाये। शहर के प्रमुख मार्गाे पर स्पीड ब्रेकर बनाये जाएं। उन्होने विद्यालय के प्राचार्य/प्रबन्धको को निर्देश दिये कि वे यह ध्यान रखेंगे कि यदि विद्यालय में कोई भी छात्र-छात्रा बाइक या स्कूटी से आते है तो उनसे अनिवार्य रुप से हेल्मेट का प्रयोग अवश्य करवाया जाए। तथा वाहन चालको को हेल्मेट/सीटबेल्ट का प्रयोग करने हेतु जागरूक किया जाये एवं स्कूली वाहन चालको का चरित्र का सत्यापन अनिवार्य रूप से कराया जाये।

    जिलाधिकारी ने सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी को निर्देश दिया है कि छात्र/छात्राओं के सुरक्षा के मद्देनजर स्कूलों में चल रहे बसें/वाहनों का सर्वे कर वाहनों के फिटनेस की जाँच की जाय और जाँच के दौरान जो वाहन अनफिट पाये जाएं, उनकी सूची उपलब्ध कराएं, ताकि अनफिट वाहनों का संचालन रोका जा सके। उन्होने अनफिट विद्यालय वाहन के संचालन की दशा में प्रबन्धक के विरूद्ध प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने का भी निर्देश दिया है। इसके अलावा उन्होने यह भी निर्देश दिया कि स्कूल बसों व अन्य भारी वाहनों पर ओवरलोडिंग न होने पाये। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने सभी विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों को भी सुरक्षित यात्रा के दृष्टिगत अनिवार्य रुप से हेल्मेट और सीटबेल्ट का अनिवार्य रुप से प्रयोग करने का निर्देश दिया है।

    जिलाधिकारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिया है कि जनपद के समस्त विद्यालयों में परिवहन सुरक्षा समिति की बैठक का आयोजन किया जाए तथा उन्हें यातायात नियमों के प्रति जागरूक भी किया जाए। उन्होने समस्त विद्यालय के प्रबन्धकों को निर्देश दिये कि विद्यालयों में संचालित वाहनों के चालकों के ड्राईविंग लाइसेंस एवं चरित्र, पते एवं अन्य दस्तावेजों का अनिवार्य रूप से सत्यापन अवश्य करायें। वर्ष में एक बार विद्यालय से सम्बन्धित सभी वाहन चालकों का नेत्र एवं स्वास्थ्य परीक्षण अवश्य कराया जाए। विद्यालय से सम्बद्ध वाहनों के दस्तावेज, पंजियन पुस्तिका, फिटनेस बीमा, परमिट की जांच अवश्य करायें। इसके साथ ही विद्यालयों के छात्रों के अभिभावकों को सुरक्षा सम्बन्धी नियमों के प्रति जागरूक भी किया जाए। विद्यालय परिसर के बाहर दोनो साइडों पर रोड ब्रेकर बनाये जाये, तथा विद्यालय के कर्मचारियों की स्कूल खोलने एवं बन्द करने के समय ड्यूटी लगायी जाए।

    इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने जनपद वासियों से वाहन चलाते समय सीट बेल्ट एवं हेल्मेट का प्रयोग करने की अपील की है। उन्होने कहा कि यातायात नियमों का सदैव पालन करें, क्योंकि जीवन बहुत ही अमूल्य है। उन्होने यह भी कहा कि जो भी व्यक्ति यातायात नियमों का पालन नहीं करते पाया गया, तो उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही भी की जायेगी।

    इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी कमलेश चन्द्र, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी विनीत कुमार मिश्र, पुलिस क्षेत्राधिकारी भिनगा अतुल कुमार चौबे, जिला विद्यालय निरीक्षक सन्त प्रकाश, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अमिता सिंह, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग एस0के0 हरित, यातायात प्रभारी मनीष पाण्डेय, यात्री/मालकर अधिकारी रणवीर सिंह चौहान सहित विद्यालय के प्रचार्य/प्रबन्धकगण एवं सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहें।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.