Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। मेट्रो यात्रियों को सौगात, यूपी मेट्रो के एमडी सुशील कुमार ने कानपुर मेट्रो के मोबाइल ऐप का किया लोकार्पण।

    इब्ने हसन ज़ैदी\कानपुर। आईआईटी-कानपुर से मोतीझील के बीच 9 किमी. लंबे प्राथमिक सेक्शन पर मेट्रो सेवाओं को और भी प्रभावी बनाने और यात्रियों के लिए सुविधाजनक बनाने हेतु, आज उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लि. (यूपीएमआरसी) के प्रबंध निदेशक सुशील कुमार ने कानपुर मेट्रो के मोबाइल ऐप का लोकार्पण किया।

    आज  मोतीझील में आयोजित कार्यक्रम के दौरान, प्रबंध निदेशक ने मेट्रो यात्रियों को ऐप की सौग़ात दी और साथ ही, ऐप की सुविधाओं के बारे में बताया। ‘Kanpur Metro’ नाम से यह ऐप ‘ऐंड्रॉयड’ और ‘आईओएस’ दोनों ही प्लैटफ़ॉर्म्स पर मौजूद है। कार्यक्रम के दौरान, ऐप से टिकट बुकिंग का लाइव डेमो भी दिया गया। 

    इस अवसर पर  सुशील कुमार ने सभी मेट्रो यात्रियों को बधाई देते हुए कहा, “कानपुर मेट्रो की विश्वस्तरीय सेवाओं को लगातार शहरवासियों का समर्थन मिल रहा है और शहर के सार्वजनिक यातायात की तस्वीर बदल रही है। इसी कड़ी में आज कानपुर मेट्रो के मोबाइल ऐप को भी आप सभी के सुपुर्द किया जा रहा है ताक़ि आपकी मेट्रो यात्रा का अनुभव और भी सहज, बाधारहित और सुविधाजनक बन सके।” प्रबंध निदेशक ने जल्द ही मेट्रो कार्ड लाने का भी आश्वासन भी दिया। 

    • कानपुर मेट्रो के मोबाइल ऐप पर मिलेंगी ये सुविधाएँ:

    ऐड्रॉयड यूज़र्स, ‘गूगल प्ले स्टोर’ से और ऐपल आईओएस यूज़र्स, कानपुर मेट्रो मोबाइल ऐप को ‘ऐप स्टोर’ से डाउनलोड कर सकते हैं। ऐप डाउनलोड करने के बाद यूज़र को अपने मोबाइल नंबर और ईमेल के साथ ऐप पर रजिस्टर करना होगा।

    मेट्रो यात्री अब ऐप से ही टिकट बुक कर सकते हैं। टिकट बुक करने के बाद ऐप पर ही QR कोड जेनरेट होगा और इस QR कोड को मेट्रो स्टेशन पर लगे ऑटोमैटिक फ़ेयर कलेक्शन गेट पर स्कैन कर स्टेशन में प्रवेश कर सकते हैं और मेट्रो यात्रा कर सकते हैं।

    • यूज़र्स ऐप पर ही बुकिंग और ट्रांज़ैक्शन हिस्ट्री भी देख सकते हैं।

    ऐप पर सबसे नज़दीकी मेट्रो स्टेशन देखने और स्टेशनों के बीच का रूट देखने की भी सुविधाएँ मौजूद हैं। ऐप की सहायता से ग्रुप टिकट भी बुक किया जा सकता है। ग्रुप टिकट, न्यूनतम 5 लोगों और अधिकतम 20 लोगों के लिए बुक किया जा सकता है।

    प्रबंध निदेशक  सुशील कुमार ने आज सुबह फूलबाग़ में कानपुर मेट्रो के दूसरे रिसीविंग सब स्टेशन (आरएसएस) के निर्माण हेतु भूमिपूजन किया। कानपुर मेट्रो के दोनों कॉरिडोर्स (आईआईटी-कानपुर से नौबस्ता और चंद्रशेखर आज़ाद विश्वविद्यालय से बर्रा-8) पर मेट्रो परिचालन हेतु बिजली आपूर्ति के लिए दो आरएसएस होंगे। पहला आरएसएस लखनपुर में बना है और वर्तमान में उसी के ज़रिए, प्राथमिक सेक्शन पर मेट्रो सेवाओं का संचालन किया जा रहा है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.