Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहाँपुर। बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं:-डीएम

    फै़याज़ उद्दीन\शाहजहाँपुर। कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी  उमेश प्रताप सिंह की अध्यक्षता में बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत संचालित विभिन्न कार्यक्रमों के अनुश्रवण हेतु शासन द्वारा गठित जिला शिक्षा एवं अनुश्रवण समिति योजनान्तर्गत जनपद स्तरीय टास्क फोर्स एवं मिशन प्रेरणा के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु टास्क फोर्स की संयुक्त बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिला स्तरीय टास्क फोर्स द्वारा विद्यालयों के भ्रमण तथा निरीक्षण पर चर्चा की गई जिसमें कई जनपद स्तरीय अधिकारियों द्वारा निरीक्षण की स्थिति शून्य पाई गई, साथ ही कई जिला स्तरीय टास्क फोर्स समिति के अधिकारी बैठक में अनुपस्थित रहे, बैठक में डीडीओ  पवन सिंह, पीडी डीआरडीए अवधेश राम, डीएसओ ओम हरी उपाध्याय, सीएमओ  एस पी0 गौतम तथा डिप्टी सीएमओ,  आदि अनुपस्थित थे, जिसे लेकर जिलाधिकारी  ने कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए अनुपस्थित अधिकारियों का जवाब तलब करने तथा अग्रिम आदेशों तक वेतन रोकने का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। शिक्षा विभाग की महत्वपूर्ण बैठक में जिला स्तरीय अधिकारियों का बिना सूचित किए अनुपस्थित रहना घोर लापरवाही को दर्शाता है। जिलाधिकारी द्वारा ददरौल स्थित संविलियन विद्यालय का निरीक्षण किया गया था जिसमें वहां की सफाई व्यवस्था बदहाल पाई गई थी जिसे लेकर बीईओ का वेतन रोकने का आदेश जिलाधिकारी ने दिया था। 

    बैठक में मौजूद ददरौल की बीईओ को जिलाधिकारी ने ददरौल के विद्यालय की सफाई व्यवस्था को लेकर कड़ी फटकार लगाते हुए सख्त हिदायत दी कि विद्यालय में साफ सफाई व्यवस्था को सुनिश्चित करें, उन्होंने बच्चों को दिए जाने वाले मिड डे मील तथा अन्य व्यवस्थाओं को लेकर सभी अधिकारियों से कहा कि वह सक्रिय रहें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देशित किया कि यदि विद्यालयों में सफाई कर्मचारी कार्य करने नहीं आते हैं तो उनके बर्खास्तगी की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। यदि कोई सफाई कर्मचारी तैनात नहीं है तो शिक्षा समिति के फंड से सफाई व्यवस्था को सुनिश्चित किया जाए।

    जिलाधिकारी ने बीएसए सुरेंद्र सिंह रावत को निर्देशित करते हुए कहा कि भ्रमणसील रहकर विद्यालयों का निरीक्षण करें यदि स्कूल में अध्यापक व स्कूल के अन्य कर्मचारी अनुपस्थित पाए जाते हैं तो उनके वेतन रोकने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। जिलाधिकारी ने बीएसए को यह भी आदेश दिया कि वह प्रतिदिन 6 बजे 5 बिंदुओं 1. सफाई व्यवस्था, 2. शैक्षणिक स्तर, 3. मिड डे मिल की क्वालिटी, 4. अनुपस्थित कर्मचारी, 5. विद्यालयों में शौचालयों की स्थिति, के साथ ही अन्य आवश्यक बिंदुओं पर  जिलाधिकारी कार्यालय में रिपोर्ट उपलब्ध करवाएं। 

    जिलाधिकारी ने बीएसए को निर्देशित करते हुए कहा कि वह बच्चों को दी जाने वाली शिक्षा का स्तर एवं गुणवत्ता की भी जांच करें। मुख्य विकास अधिकारी  श्याम बहादुर सिंह ने 19 पैरामीटर पर समीक्षा करते हुये सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिनकी प्रगति कम है या पोर्टल पर फीड नही है वह कल तक सभी पैरामीटर पर 100 प्रतिशत प्रगति करना सुनिश्चित करें। 

    बैठक में प्रचार्य डायट ददरौल, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी, जिला युवा कल्याण अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी आदि सहित सभी खण्ड शिक्षा अधिकारी मौजूद रहे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.