Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। सूखे का असर ,कुम्लाह रही है धान की नर्सरी, खेतों में उड़ रही है धूल, कई जगह नल पानी नही दे रहे है।

    देव बक्श वर्मा\अयोध्या। धर्म नगरी अयोध्या में सूखे का पूरा असर दिखाई दे रहा है। तजो धान की रोपाई किए है वे पछता रहे है तो नही रोप सके है वे पछता रहे है। रोपाई की गयी धान की फसल पानी के अभाव में सूखे रही है। जिले में खरीफ की बुवाई सामान्य मानसून के आस में रोपाई किया गया किन्तु मानसून कहा गया कुछ पता नहीं है  लगभग एक महीने पिछड़ गई है। सामान्य मानसून स्थितियों में जिले में 15 जून से लेकर 15 जुलाई के बीच धान की रोपाई हो जाती है। प्रमुख फसलों में धान,की रोपाई  हो रही है। बहुसंख्य किसान अभी भी बारिश के लिए आसमान की ओर निहार रहे हैं।

    हाल यह है कि बारिश के इंतजार में किसानों की आंखें पथरा रही हैं,धान की नर्सरी कुम्हला रही है। खेतों में अभी तक धूल उड़ी रही है तेज धूप की तपिश से जो नमी थी वह भी गायब हो रही है। मौसम का रुख देखकर किसान सिंचाई के दूसरे माध्यमों से सिंचाई कर फसल की रोपाई की हिम्मत नहीं कर पा रहे हैं। जो किसान सक्षम हैं वे सिंचाई करके फसल की बुवाई कर सकते हैं। हालांकि देर से बुवाई करने से फसलों के उत्पादन पर असर पड़ेगा। मानसून की बेरुखी में सिंचाई के अमावस में पैदा वार घट सकता है। छुट्टा मवेशी के कारण फसलों का होने वाला नुकसान और फिर कोल्ड स्टोरेज में आलू का सड़ जाना, बैंकों की कर्ज वसूली किसानों पर भारी पड़ रही है। महंगाई ने किसानों की कमर तोड़ रखी है। आषाढ़ माह बीत गया  है साधन चल रहा है।, लेकिन वर्षा का नामोनिशान नहीं है। तपन इतनी बढ़ गई है कि क्षेत्र के अधिकांश ताल तलैया सूख चुके हैं।यदि यही हाल रहा तो पीने के पानी का अभाव हो जायेगा। तमाम जगह हैण्ड पम्प पानी देना बन्द कर दिए है।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.