Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। देश के प्रतीक का विरोध करने वाले छोड़ दे भारत-महंत राजू दास।

    अयोध्या। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा नए संसद भवन के छत पर अशोक स्तंभ की विधि विधान पूर्वक पूजन के बाद अनावरण किये जाने पर सपा प्रवक्ता अमीक जामेई ने आयोजन को पाखंड बताया है। देश के इस प्रतीक को लेकर आपत्ति भी जताई है। जिसको लेकर हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास ने कहा कि जाकी रही भावना जैसी प्रभु देखी मूरत तिन तैसी लोग प्रधानमंत्री से इतना नफरत करते हैं इतनी क्यों रखते हैं कि मोदी का विरोध करते-करते अशोक स्तंभ का विरोध करने लगे हैं सपा के मुस्लिम प्रवक्ता को इस्लाम में भी आस्था नहीं है इस्लाम में भी आस्था नहीं है इसीलिए उनको लग रहा है कि यह ढोंग है ढकोसला है। 

    उन्होंने कहा कि विचार का विरोध किया जाए लेकिन इतना भी विरोध न किया जाए मोदी का विरोध करते करते देश का विरोध और अशोक स्तंभ का विरोध कर रहे हो और फिर उसको ढकोसला बता रहे हो हर व्यक्ति को यह पता है कि यह ऐसे लोग हैं जो संविधान को नहीं मानते और संवैधानिक प्रक्रिया को नहीं मानते इनका भाव केवल एक काम में है शरिया और शरीयत में।

    जगद्गुरु राम दिनेशाचार्य ने कहा पहली बात तो इन लोगों के बयान को भारत की जनता ने पूर्ण रूप से नकार दिया है जगतगुरु ने कहा कि स्तंभ नहीं बनेगा राम मंदिर नहीं बनेगा रामेश्वर की स्थापना नहीं होगी तो क्या यहां जिन्ना की मूर्ति बनने वाली है क्या ऐसे लोगों को जनता ने पूरी तरह से नकार दिया है ऐसे लोग बड़बोलापन में बड़ी बातें करते हैं मानसिक दिवालिया लोग होते हैं संत समाज भगवान से यही प्रार्थना करेगा कि इनको सद्बुद्धि दें अगर इन लोगों को ज्यादा दिक्कत हो रही है तो वह देश छोड़कर पाकिस्तान जाकर अपने आदर्श की स्थापना करें यहां पर अशोक चक्र और राम मंदिर भगवान कृष्ण भगवान शिव और उनको जो मानने वाले लोग हैं उन्हीं की स्तंभ की स्थापना होगी।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.