Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    श्रावस्ती। महिला आयोग सदस्या ने चौपाल लगाकर महिलाओं एवं बालिकाओं की समस्याओं का किया निराकरण।

    • बालिकाओं एवं महिलाओं के उत्थान हेतु सरकार है प्रतिबद्ध:- सदस्या महिला आयोग कुमुद श्रीवास्तव
    • महिलाओं के चतुर्दिक विकास के लिए अनेक योजनायें की जा रही संचालित:- सदस्या कुमुद श्रीवास्तव

    सर्वजीत सिंह\श्रावस्ती। देश एवं प्रदेश सरकार बेटियों एवं महिलाओं के उत्थान हेतु प्रतिबद्ध है, इनके उत्थान के लिए सरकार द्वारा मिशन शक्ति अभियान के तहत तमाम कार्यक्रम चलाकर उन्हें जागरूक करने के साथ ही लाभान्वित भी किया जा रहा है। लड़कियां किसी भी क्षेत्र में लड़कों से पीछे नही है। जरूरत इस बात की है कि बिना भेदभाव के लड़कियों को भी लड़को की तरह ही पढ़ा लिखा कर आगे बढ़ाया जाए।  

    उक्त विचार विकास खण्ड सिरसिया के अन्तर्गत ग्राम पंचायत बलनपुर बसन्तपुर के मजरा बनगई जूनियर हाईस्कूल में मिशन शक्ति 4.0 कार्यक्रम के तहत आयोजित जन जागरूकता चौपाल में बालिकाओं एवं महिलाओं की समस्याओं को सुनकर उनका निस्तारण करने के दौरान राज्य महिला आयोग की मा0 सदस्या कुमुद श्रीवास्तव ने व्यक्त किया। इस दौरान सदस्या ने चौपाल में आयी बालिकाओं, महिलाओं एवं बुजुर्गो का सम्मान भी किया।

    उन्होने कहा कि आज महिलायें हर क्षेत्र में कार्य करते हुए परिवार की आर्थिक बुनियाद मजबूत कर रहीं हैं, साथ ही राष्ट्र के विकास में सहभागी बन रही है। देश के मा0 प्रधानमंत्री एवं प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री जी ने देश एवं प्रदेश की महिलाओं की सशक्तीकरण व सुरक्षा, सम्मान, स्वाभिमान और रोजगार से लगाने की जो संकल्पना की थी वह पूरी हो रही हैं। प्रदेश सरकार महिलाओं के चतुर्दिक विकास के लिए अनेक योजनायें संचालित कर उन्हंे लाभान्वित कर रही है। प्रदेश सरकार की संचालित योजनाओं से करोड़ो बालिकायें, महिलायें लाभान्वित हुई। इसलिए अपनी बेटियों को बिना किसी भेदभाव के पढ़-लिख कर आगे बढ़ाने हेतु प्रेरित करें।

    इस दौरान सदस्या द्वारा मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, उ0प्र0 रानी लक्ष्मीबाई महिला एवं बाल सम्मान को योजना, अत्याचार से प्रभावित अनुसूचित जाति की पीड़िताओं को आर्थिक सहायता, चिकित्सा विभाग की योजनाओं, महिलाओं को प्राप्त सुविधाओं की समीक्षा, ग्रामीण आर्थिक विकास और नियोजन में महिलाओं की भागीदारी ग्राम्य विकास, एस0एच0जी0एस0 तथा ओ0डी0ओ0पी0 योजना में प्रगति, दिव्यांगजन से शादी करने पर पुरस्कार, ऑगनबाडी योजना, अल्पसंख्यक वर्ग हेतु शादी योजना, महिला शिक्षा, ग्रामीण शौचालय की स्थिति आदि की समीक्षा की तथा पात्रों को लाभान्वित करने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया। उन्होने कहा कि गांव में यदि कोई पात्र व्यक्ति सरकार की योजनाओं से अछूते है तो उनका ऑकलन कर सूची तैयार किया जाए और सरकार की योजनाओं से उन्हें जोड़ा जाए। उन्होने बालिकाओ/महिलाओं को उनके अधिकारों, विद्यमान कानूनों की जानकारी दी और कहा कि बालिकाएं एवं महिलाओं को बिना भेदभाव के आगे बढ़ाने हेतु प्रेरित किया जाए तो निश्चित ही वे सफलता हासिल करेंगी। आजकल महिलाएं पुरूषों से कन्धा से कन्धा मिलाकर हर क्षेत्र में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करते हुए अपने दायित्वों का निर्वहन कर रही है, जो गर्व की बात है। 

    उन्होने उपस्थित बालिकाओं एवं महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि प्रत्येक थाना में महिला हेल्प डेस्क एवं आगन्तुक कक्ष की स्थापना महिला आरक्षीगण की डयूटी लगायी गयी है। जहां पर कोई भी महिला/बालिका अपनी शिकायत दर्ज करा सकती है। जिनकी शिकायत सुनकर तत्काल निस्तारण हेतु सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारीगण को आदेशित किया गया है। प्रत्येक थाना स्तर पर एन्टी रोमियों चेंकिग के दौरान मिलने वाली महिलाओं व बालिकाओं को जागरूक किया जा रहा है यदि उनकी कोई समस्या है, तो उन्हें नोट कर उसका त्वरित निस्तारण कराया जा रहा है। मा0 सदस्या ने कहा कि विभिन्न सेवायें जैसे-1090 (वूमेन पॉवर लाइन), 181 (महिला हेल्प लाइन), 108 (एम्बुलेंस सेवा), 1076 (मुख्यमंत्री हेल्पलाइल), 112 (पुलिस आपतकालीन सेवा), 1098 (चाइल्ड लाइन), 102 (स्वास्थ्य सेवा) जनपयोगी हेल्पलाइन नम्बर आप लोगों के कल्याण हेतु चलायी जा रही है, जिन पर आपनी शिकायत कभी भी दर्ज करा सकती हैं।

    इस अवसर पर अध्यक्ष जिला पंचायत दद्दन मिश्रा ने कहा कि सरकार महिलाओं एवं बालिकाओं के उत्थान हेतु प्रतिबद्ध है। उनके सर्वागीण विकास के लिए सरकार द्वारा तमाम जनकल्याणकारी योजनाओं का संचालन कर उन्हें लाभान्वित किया जा रहा है। बालिकाओं एवं महिलाओं को सशक्त बनाने हेतु मिशन शक्ति अभियान चलाकर उन्हें स्वावलम्बी बनाया जा रहा है। उन्होने कहा कि महिलाएं एवं बालिकाएं हर घर की लक्ष्मी है, इसलिए हम लोगों की जिम्मेदारी बनती है कि बिना भेद-भाव के हर बहन बेटी को समाजिक सुरक्षा प्रत्येक दशा में मुहैया कराने के साथ ही उनका सुरक्षा कवच भी बने ताकि कोई भी बहन बेटी का मान सम्मान धूमिल न होने पावे। और बिना भेदभाव के उन्हें शिक्षित कर आगे बढ़ायें। कार्यक्रम सम्पन्न होने पर पूर्व ग्राम प्रधान घनश्याम पाठक ने धन्यवाद ज्ञापित किया। 

    इस अवसर पर उपजिलाधिकारी आशुतोष, जिला प्रोबेशन अधिकारी सुबोध कुमार सिंह, जिला सूचना अधिकारी शिवनाथ, खण्ड विकास अधिकारी सिरसिया रामबरन, महिला थानाध्यक्ष मंजू पाण्डेय, थानाध्यक्ष सिरसिया पंकज कुमार, कमलेश मिश्रा, पंकज मिश्रा, लेखपाल, ग्राम पंचायत  अधिकारी सहित गांव की बालिकाएं/महिलाएं एवं भारी जनसैलाब उपस्थित रहा। तदोपरान्त सदस्या एवं अध्यक्ष जिला पंचायत ने बाबा विभूतिनाथ मन्दिर जाकर दर्शन-पूजन किया।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.