Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बाँसडीह/बलिया। डबल इंजन की सरकारें पब्लिक सेक्टर, सद्भाव और लोकतन्त्र की दुश्मन - रामगोविन्द चौधरी

    .......... राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर के पथ पर चलकर ही सबकी रक्षा सम्भव - पूर्व नेता प्रतिपक्ष, उत्तर प्रदेश

    सैय्यद आसिफ़ हुसैन जै़दी

    बाँसडीह/बलिया। पूर्व प्रधानमन्त्री स्व. चंद्रशेखर जी के पुण्यतिथि पर शुक्रवार को बासडीह सपा कार्यलय पर आयोजित श्रृद्धांजलि सभा एवं विचारगोष्ठी में पूर्व नेता प्रतिपक्ष, उत्तर प्रदेश रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि झूठ के बल पर सत्ता में काबिज डबल इंजन की सरकारें केवल विकास की नहीं, पब्लिक सेक्टर, सद्भाव और लोकतन्त्र की भी दुश्मन हैं। इनके चंगुल से पब्लिक सेक्टर, सद्भाव और लोकतन्त्र को बचाने के लिए हम सभी लोगों को अपने अपने घरों से निकलकर विपरीत परिस्थितियों में एक दूसरे का साथ देना होगा, इनके जुल्म और इनकी  साजिशों का विरोध करना होगा, नहीं तो सब कुछ नष्ट हो जाएगा। उन्होंने कहा है कि वर्तमान में केवल राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर के पथ पर चलकर ही पब्लिक सेक्टर, सद्भाव और लोकतन्त्र समेत आम जन की रक्षा सम्भव है।

    राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर की पुण्यतिथि के अवसर पर  शुक्रवार को आयोजित श्रद्धांजलि सभा पर आयोजित बिचारगोष्ठी में श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए पूर्व नेता प्रतिपक्ष, उत्तर प्रदेश रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि पहले सरकार का मतलब होता था जनकल्याण और राहत। वर्तमान सरकार का मतलब है, उत्पीड़न और झूठ। यह उत्पीड़न और झूठ सभी हदें पार कर चुका है। अब इसका सीधा टारगेट है पब्लिक सेक्टर, सद्भाव और लोकतन्त्र 

    जिसकी रक्षा हम सभी की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा है कि डबल इंजन की सरकारें आजकल खुद ही दुखद और शर्मनाक घटनाओं को इवेंट की तरह प्रायोजित कर रही हैं और उनका प्रचार तन्त्र इन घटनाओं के आधार पर पूरे देश का माहौल विषाक्त कर रहा है। इसे रोका नहीं गया तो इसके भयावह परिणाम होंगे।

    पूर्व नेता प्रतिपक्ष, उत्तर प्रदेश रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि डबल इंजन की सरकारों का सबसे बड़ा लक्ष्य है, देश का सर्वस्व कुछ धनपशुओं के हाथ में देना। इसके लिए कानून को तरह तरह तोड़ा मरोड़ा जा रहा है, बदला जा रहा है और पब्लिक सेक्टर को बीमारू साबित करने के लिए अच्छी संस्थाओं को भी रौंदा जा रहा है। उन्होंने कहा है कि वर्तमान में महंगाई आसमान छू रही है, बेरोजगारी चरम पार कर गयी है, किसान  सिसक रहा है, मजदूर का कोई पुरसाहाल नहीं है, दलित और अतिपिछड़ा वर्ग के लोग लगातार सताए जा रहे हैं, महिलाओं की अस्मत लूट ली जा रही है, कर्मचारी सरेआम धमकाए जा रहे हैं और डबल इंजन की सरकारें इसे रोकने का प्रयास करने की जगह हिन्दू मुसलमान का झुनझुना बजा रही है जिसकी वजह से अल्पसंख्यकों का रास्ता चलना मुश्किल हो गया है।

    रामगोविंद चौधरी ने कहा है कि डबल इंजन की सरकारों के उपरोक्त रवैयों की वजह से  देश की आर्थिक स्थिति लंका जैसी होने की ओर है। उन्होंने कहा है कि इसके मुकाबले का  एक मात्र रास्ता है कि हम सभी लोग राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर के बताए रास्ते पर चलें और पब्लिक सेक्टर, सद्भाव तथा लोकतन्त्र की रक्षा के साथ उत्पीड़ित  किसानों, मजदूरों, कर्मचारियों, पिछडों, अतिपिछडों, दलितों, अल्पसंख्यकों, महिलाओं, छात्रों और  बेरोजगारों को न्याय दिलाने के लिए बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने को तैयार रहें।

    श्रद्धाजंलि सभा एवं बिचारगोष्ठी में  विशिष्ट अतिथि डा.विश्राम यादव ने चंद्रशेखर जी के स्मृतियों को सुनाया साथ ही सर्वश्री यशपाल सिंह,सुशील पाण्डेय"कान्हजी"हरेंद्र सिंह,मनोरंजन सिंह, डा. हरिमोहन सिंह, लाल साहब सिंह,संकल्प सिंह,आशीष सिंह,धीरेंद्र सिंहचुन्ना, बिहारी पाण्डेय, गजेंद्र सिंह,पप्पू सिंह अधिवक्ता, कौशल पाण्डेय,उपेंद्र सिंह,अभय सिंह,राजेश सिंह राजू,राजेंद्र सिंह,मंटू बाबा,अंगद तिवारी, रविंद्र सिंह, प्रताप सिंह,सुभाष ओझा,हैप्पी पाण्डेय,बब्बन गिरी, आदि ने भी विचार व्यक्त किए। अध्यक्षता जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष श्याम बहादुर सिंह ने किया।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.