Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। श्रीराम मंदिर और आसपास सुरक्षा के हाईटेक इंतजाम होंगे।

     .... श्रीराम जन्मभूमि स्थाई सुरक्षा समिति की बैठक में लिया गया फैसला

    देव बक्श वर्मा अयोध्या

    अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की धर्म नगरी अयोध्या  अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त कर रही है । मंदिर का निर्माण हो रहा है।  14 कोसी, पंचकोसी परिक्रमा  मार्ग  रिंग रोड  का निर्माण हो रहा है।  इतना ही नहीं  नव्य अयोध्या  का विकास हो रहा है। अंतरराष्ट्रीय  हवाई अड्डा बन रहा है।  बिकास जिस रफ्तार से चल रहा है । असामाजिक तत्वों की निगाहें भी अयोध्या पर लगी है।  ऐसे में अयोध्या  की सुरक्षा का खाका  बड़े पैमाने पर तैयार किए जाने की जरूरत भी है। अयोध्या में रामलला की सुरक्षा को लेकर रामजन्म भूमि स्थाई सुरक्षा समिति की बैठक हुई है। जिसमें एडीजी सुरक्षा, एडीजी जोन, आईजी, डीआईजी, समेत कई विभागों के अधिकारियों व राम जन्म भूमि ट्रस्ट के पदाधिकारियों के साथ बैठक में सुरक्षा को लेकर मंथन हुआ। बैठक में तय हुआ कि राम मंदिर निर्माण के साथ अयोध्या में बढ़ने वाली श्रद्धालुओं की संख्या और रामलला की सुरक्षा व्यवस्था तकनीक के साथ की जाएगी। सुरक्षा व्यवस्था ऐसी होगी कि परिंदा भी पर नहीं मार सकता। बैठक में तैयार सुरक्षा खाका का प्रस्ताव शासन को मंजूरी के लिए भेजा गया है।

    अयोध्या में हाईटेक सुरक्षा व्यवस्था के व्यापक प्रबंध होंगे। इसमें नयी तकनीक का भी इस्तेमाल किया जाएगा। प्रयास रहेगा कि किसी भी तरह से अयोध्या में आने वाले श्रद्धालुओं को सुरक्षा के लिहाज से असुविधा का सामना ना करना पड़े और राम मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था भी सख्त बनी रहे। एडीजी जोन ने कहा कि रामलला के मंदिर की भी सुरक्षा बनी रहे इसको लेकर भी खाका तैयार किया गया है। एडीजी सुरक्षा बी के सिंह ने कहा कि तीनों धार्मिक स्थल के लिए भारत सरकार के आदेश के साथ एक स्थाई समिति बनी है।  मुख्यालय उत्तर प्रदेश के संयोजन में बैठक आहूत की गई । सभी धारक और सेंट्रल एजेंसी ने बैठकर मंथन किया है और एक फाइनल स्वरूप देने की कोशिश की गई है। राम मंदिर निर्माण के बाद सुरक्षा व्यवस्था कैसी होगी उसका क्या स्वरूप होगा इस पर मंथन किया गया है।

    अयोध्या धार्मिक ऐतिहासिक पर्यटक और दार्शनिक नगरी हैं। पहले अयोध्या के विवाद के लिए माना जाता था किंतु राम मंदिर निर्माण के साथ अयोध्या के विकास के साथ अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अयोध्या का अलग ही महत्व है। ऐसे में अयोध्या की सुरक्षा व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए कि बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी भी ना हो, सुख सुविधा उन्हें मिले रहने खाने की व्यवस्था हो तथा सुरक्षा के नाम किसी तरह का उत्पीड़न भी ना हो।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.