Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। राम मंदिर तक जाने वाली सड़क के चौड़ीकरण में तोड़ी जा रही है दुकान व मकान।

    देव बक्स वर्मा\अयोध्या। भगवान राम की धर्म नगरी अयोध्या में एक तरफ जहां राम मंदिर का निर्माण चल रहा है तो वहीं दूसरी तरफ राम भक्तों का अयोध्या आने में बड़ी मात्रा में बढ़ोतरी हो रही है! जिसके चलते ayodhya की सड़कों का चौड़ीकरण व फोरलेन का काम भी तेजी से चल रहा है। राम मंदिर को जाने वाली सड़क का चौड़ीकरण का काम तेज हो गया है और दुकानों व मकानों को तोड़ा जा रहा है। 

    अयोध्या में लोगों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए इंफ्रास्ट्रक्चर को तेजी से विकसित किया जा रहा है। श्री राम जन्म भूमि की तरफ जाने वाले रास्ते का चौड़ीकरण करने के लिए दुकानों और मकानों को गिराना शुरू कर दिया गया है। श्रृंगार हॉट से लेकर श्री राम जन्मभूमि तक के मार्ग का सबसे पहले चौड़ीकरण किया जा रहा है। सड़क चौड़ीकरण के दायरे में आने वाले मकानों और दुकानों के भूभाग को चिन्हित कर पहले ही नोटिस दिया जा चुका है। 

    प्रभावित होने वाले भवन स्वामियों और दुकानदारों को 3 कैटेगरी में बांटा गया है। पहले दुकानदार और भवन स्वामी वह है जिनका घर या दुकान पूरी तरह चौड़ीकरण के क्षेत्र में नहीं आ रहा है। दूसरे वह है जिनके पीछे स्थान बचा हुआ है और वह आगे का हिस्सा टूटने के बाद पीछे अपनी दुकान बढ़ा सकते हैं, जबकि तीसरे वह लोग हैं जिनका दुकान और मकान पूरी तरह सड़क चौड़ीकरण के दायरे में आ रहा है और पूरी तरह ध्वस्त किया जा रहा है। इसी हिसाब से उनको मुआवजा, सरकारी सुविधा और मदद भी उपलब्ध कराई जा रही है। ऐसे लोग जो सड़क चौड़ीकरण के दायरे में आ रहे हैं उनको अयोध्या में बनने वाली सरकारी दुकानों के एलॉटमेंट में प्राथमिकता दी जाए। 

    जिलाधिकारी ने क्या बताया

     श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने भी सड़क चौड़ीकरण से संबंधित क्षेत्रों का निरीक्षण किया और श्रद्धालुओं की सुविधाओं को लेकर मंथन भी किया। तीन प्रकार के दुकानदार हैं। पहला जिनके पास दुकान है और उनके पास सड़क के चौड़ीकरण के बाद जो टूटेगी और जो दुकान बचेगी शेष बचेगी, दूसरे वे हैं जिनके पास पीछे जमीन उपलब्ध है और तीसरे वे हैं जिनके पास जमीन उपलब्ध नहीं है। तीन कैटेगरी चिन्हित किया गया है और स्टेज वाइज काम कर रहे हैं। 

    जिनके पास जो दुकाने हैं और वे निर्माण प्रक्रिया से जुड़े हुए हैं और उनको मुआवजा पूर्ण रूप से दे दिया गया है और उनको एएनआर भी दे दिया गया है। बात करके उनको विस्थापित किया जा रहा है। मकान मालिक और संतों से संवाद किया जा रहा है। प्रशासन द्वारा दुकानदार को भी बताया जा रहा है कि किस तरीके हम लोगों ने एडीए द्वारा पार्किंग स्थल पर जो दुकान बनाया जा रहा है वहां पर हमारे पास ऑप्शंस हैं। टेढ़ी बाजार वन, टू और अमानीगंज में दुकानें हैं। दुकानदारों को उनके एलॉटमेंट लेटर के कंडीशन पर दिया जाएगा। हम लोगों ने पूरा मुआवजा दिया है। जैसे जैसे हम लोग मुआवजा पूरी तरह से दे रहे हैं उसको एनआरआई भी दे रहे हैं, जीवन निर्वाह भत्ता भी। 

    श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय का कहना है कि, सड़कें चौड़ी होंगी, दुकानदारों को कहां स्थानांतरित किया जाएगा, कितनी दुकानें बन रही हैं, तीर्थयात्री आएंगे तो अपना सामान कहां रखेंगे ऐसी कुछ साइट  देखी गई! दुकानदार पूरी तरह से संतुष्ट नहीं हो पा रहे हैं। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.