Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गोरखपुर। नियमित और संयमित जीवन से बदला यूपी के प्रति परसेप्शन :मुख्यमंत्री

    •  विकास परियोजनाओं का लाभ सबको, कल्याणकारी योजनाओं का लाभ हर पात्र को लेकिन कानून से खिलवाड़ करने की इजाजत किसी को नहीं : सीएम योगी
    • नीयत साफ हो तो मिलता है विधाता का भी साथ : मुख्यमंत्री
    • संविधान के प्रति आग्रही बनाता है कानून का सम्मान :मुख्यमंत्री
    • सीएम योगी ने किया 464 करोड़ रुपये की लागत वाली 208 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास

    गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विकास परियोजनाओं का लाभ हर तबके को, गरीब कल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव सभी पात्र लोगों को लेकिन कानून से खिलवाड़ करने की इजाजत किसी को नहीं। केंद्र व प्रदेश की सरकार इन्हीं संकल्पों के साथ विकास के माध्यम से हरेक व्यक्ति के जीवन में खुशहाली लाने का हर संभव प्रयास कर रही है। इसका परिणाम भी सबके सामने है। सरकार के इन संकल्पों के साथ लोगों के नियमित और संयमित जीवन से यूपी के प्रति परसेप्शन (धारणा) बदला है। 

    सीएम योगी गुरु पूर्णिमा के एक दिन पूर्व मंगलवार दोपहर बाद जिले की सभी नौ विधानसभा क्षेत्रों को करीब 464 करोड़ रुपये की लागत से आच्छादित करने वाली 208 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। गोरखपुर क्लब में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि नीयत साफ हो तो विधाता भी सफलता की नई ऊंचाइयों पर पहुंचाते हैं। आज उत्तर प्रदेश एक नए उत्तर प्रदेश के रूप में सबके सामने है। यह वही प्रदेश है जहां 2017 के पहले आए दिन दंगे होते थे। आज यहां दंगे नहीं होते। सड़कों पर धार्मिक कार्यक्रम भी नहीं होते हैं। वास्तव में कानून का सम्मान ही हमें संविधान के प्रति आग्रही बनाता है और जब संविधान का सम्मान होता है तो वह संविधान निर्माता बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर और स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के सम्मान का प्रतीक बनता है। सीएम ने कहा कि जहां छोटी-छोटी बातों पर दंगे होते थे, वहीं अब सड़कों पर नमाज नहीं पढ़ी जाती, कुर्बानी को लेकर दंगे नहीं होते। सभी धार्मिक स्थलों से तेज आवाज वाले लाउडस्पीकर उतार दिए गए। सरकार ने यह तय किया है कि लाउडस्पीकर की आवाज धार्मिक स्थल के परिसर तक ही होनी चाहिए। तेज आवाज से आसपास रहने वाले बुजुर्ग, मरीज को दिक्कत हो सकती है और लोक स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने की छूट किसी को नहीं दी जा सकती। उन्होंने कहा कि यदि कहीं भी तेज आवाज में लाउडस्पीकर बज रहे हों नागरिक उसकी सूचना मुख्यमंत्री कार्यालय को दे सकते हैं। 

    • यूपी में कानून, निवेश और रोजगार का संगम

    मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश कानून व्यवस्था, निवेश और रोजगार का संगम बन गया है। कानून व्यवस्था मजबूत होने से निवेश की अपार संभावनाएं आगे बढ़ी हैं और उन निवेश की संभावनाओं से रोजगार और नौकरी के नए अवसर सृजित हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि 5 जुलाई को सरकार के सौ दिन पूरे हुए और उसके पहले 3 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में प्रदेश में 80000 करोड़ रुपये से अधिक की निवेश परियोजनाओं को धरातल पर उतारा गया। इससे 5 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और 20 लाख लोगों को परोक्ष रोजगार का मार्ग प्रशस्त हुआ। आज उत्तर प्रदेश देश की सबसे तेजी से आगे बढ़ती अर्थव्यवस्था है। यहां नौजवानों के लिए रोजगार है तो किसानों का सम्मान। विकास के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर की परियोजनाएं हैं तो गरीबों के लिए अनेक जन कल्याणकारी योजनाएं। 

    • अगले दो साल में करेंगे इंसेफेलाइटिस का समूल नाश

    सीएम योगी ने कभी पूर्वांचल के लिए अभिशाप बनी रही इंसेफलाइटिस (इंसेफेलाइटिस) पर पाए गए प्रभावी नियंत्रण की चर्चा करते हुए कहा कि अगले दो साल में सामूहिक प्रयासों की बदौलत हम इंसेफलाइटिस का समूल नाश करने में सफलता प्राप्त करेंगे। उन्होंने कहा कि 1977 से 2017 तक माह जुलाई से नवंबर तक पूर्वी उत्तर प्रदेश की जनता दिमागी बुखार को लेकर सशंकित रहती थी। ना जाने कौन बच्चा इसकी चपेट में आ जाए। पूर्व की सरकारों में इसे लेकर संवेदना नहीं थी। पर, आज शासन, प्रशासन और जनता के सामूहिक प्रयासों से इंसेफलाइटिस पर 95 प्रतिशत नियंत्रण प्राप्त कर लिया गया है। यह इस बात को भी प्रमाणित करता है कि लोक स्वास्थ्य केवल स्वास्थ्य विभाग का मामला नहीं है, बल्कि इसमें आमजन की दिनचर्या में स्वच्छता, शुद्ध पेयजल व जागरूकता का भी बहुत महत्व है। सीएम योगी ने कहा कि हमें लापरवाह नहीं होना है। अनुशासित जीवन के साथ ऐसे ही सामूहिक प्रयास करते रहना है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य क्षेत्र में पीएम मोदी के मार्गदर्शन में मिले एम्स गोरखपुर और बीआरडी मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध बेहतरीन सुविधाओं का भी उल्लेख किया। 

    • जन अपेक्षाओं को पूरा करते हुए नई ऊंचाइयों पर पहुंचा गोरखपुर

    सीएम योगी ने कहा कि जन अपेक्षाओं को पूरा करते हुए गोरखपुर नई ऊंचाइयों पर पहुंचा है। यहां खाद कारखाने में उत्पादन शुरू हो चुका है। 750 से अधिक बेड के साथ एम्स पूर्वांचल के लोगों की चिकित्सा सेवा कर रहा है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज चिकित्सा का बेहतरीन केंद्र बनकर उभरा है। सड़कों का चौड़ीकरण हो, या सुचारू विद्युत आपूर्ति। बाढ़ सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा, इंफ्रास्ट्रक्चर की अनेक छोटी-बड़ी योजनाएं व्यवस्थित ढंग से आगे बढ़ी हैं। उन्होंने कहा कि सरकार योजनाओं के लिए पैसा देती है, अधिकारी उन योजनाओं को क्रियान्वित करते हैं लेकिन विकास कार्यों के संरक्षण का दायित्व जनता का है। जनता जब अपने दायित्व से जुड़ेगी तो यह शहर और प्रदेश देश में अग्रणी बनेगा। 

    • पूर्व की सरकारों में नहीं मिलती थी लोगों को योजनाओं की जानकारी

    सीएम योगी ने कहा कि योजनाएं पूर्व की सरकारों में भी बनती थीं लेकिन तब उस तबके को ही इनकी जानकारी नहीं होती थी जिनके लिए योजनाएं बनाई जाती थीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन व नेतृत्व में न केवल जन कल्याणकारी योजनाएं बनाई गईं  बल्कि उनका लाभ बिना जाति, मत, मजहब, क्षेत्र के भेदभाव के हर पात्र व्यक्ति तक पहुंचाया गया। उन्होंने बताया कि बीते 5 साल में प्रदेश में 45 लाख गरीबों के आवास बनाए गए। 8.30 लाख स्ट्रीट वेंडर्स को पीएम निधि योजना का लाभ दिलाते हुए व्यवस्थित किया गया। 1.67 करोड़ गरीब परिवारों को निशुल्क रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया गया। अब सरकार इन कनेक्शनधारियों को दिवाली व होली में मुफ्त रसोई गैस सिलेंडर भी देने जा रही है। 

    • आपदा का सामना करेंगे लेकिन कोई गरीब भूखा नहीं रहेगा

    सीएम योगी ने वैश्विक महामारी कोरोना काल की चर्चा करते हुए कहा कि वह एक ऐसा दौर था जब अपनों ने भी मुंह मोड़ लिया था। उस समय भी यूपी सरकार पीएम मोदी के मार्गदर्शन में पूरी ईमानदारी व प्रतिबद्धता से नागरिकों के जीवन व जीविका को बचाने का भरसक प्रयास कर रही थी। नागरिकों को मुफ्त टेस्ट, मुफ्त उपचार व मुफ्त वैक्सीन की सुविधा दी गई। अब तक उत्तर प्रदेश में 34 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। यही नहीं यूपी में दो-दो बार मुफ्त राशन भी प्रदान किया गया। यूपी ऐसा पहला राज्य है जहां मुफ्त राशन के साथ दाल, तेल, नमक और अंत्योदय कार्ड धारकों को मुफ्त चीनी भी दी जा रही है। सरकार का यह संकल्प है की आपदा का सामना करेंगे लेकिन कोई भी गरीब भूखा नहीं रहेगा। 

    • प्रकृति के घाव पर मरहम होगा अधिकाधिक वृक्षारोपण

    अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जलवायु परिवर्तन के खतरों से आगाह करते हुए अपील की कि हर परिवार हर एक सदस्य के नाम पर एक पौधा अवश्य रोपित करे। फोन कहां के जलवायु परिवर्तन के कारण मानसून एक माह लेट है। इसका प्रभाव फसल चक्र और किसानों की आय पर पड़ेगा। सरकार सतर्क है और इसे लेकर अपने स्तर पर व्यवस्थाएं कर रही है। जलवायु परिवर्तन में वनों की अनियमित कटान एक बड़ा कारक है। हम अभी सतर्क नहीं हुए तो प्रकृति के विपरीत आचरण का खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि अधिकाधिक वृक्षारोपण प्रकृति के घाव पर मरहम समान होगा। उन्होंने पीपल, बरगद, आम, जामुन, पाकड़, अर्जुन जैसे औषधीय व छायादार वृक्षों को लगाने की अपील की। 

    • आजादी के अमृत महोत्सव में बनाएं अगले 25 वर्ष की कार्य योजना

    सीएम योगी ने कहा कि हम वर्तमान में आजादी का अमृत महोत्सव वर्ष मना रहे हैं। 15 अगस्त 2022 को आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होंगे और हमें इस उत्सव में सहभागी बनना है। आजादी का अमृत महोत्सव यादगार बने, इसके लिए हमें स्वच्छता, पर्यावरण संरक्षण और सेनानियों के सम्मान जैसे कार्यों से जुड़कर अगले 25 वर्ष की कार्य योजना भी बनानी चाहिए। अगले 25 वर्षों के लिए सरकार का संकल्प "एक भारत श्रेष्ठ भारत" की परिकल्पना को साकार करते हुए भारत को दुनिया की सबसे बड़ी ताकत बनाने का है। इस संकल्प में सभी को सहभागी बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें यह तय करना होगा कि देश की आजादी के 100 वर्ष पूर्ण होने पर हम कैसा गांव, मोहल्ला, प्रदेश, देश व समाज देखना चाहते हैं। उन्होंने लोगों से इस संबंध में सरकार की विस्तृत कार्य योजना से जुड़ने की अपील करते हुए कहा कि 11 से 17 अगस्त तक हर घर तिरंगा लहराया जाएगा। उन्होंने लोगों से कहा कि आन, बान, शान और सम्मान का प्रतीक तिरंगा अपने-अपने घरों पर फहराने की तैयारी अभी से शुरू कर दीजिए तथा स्वच्छता, सेनानी परिजनों के सम्मान, स्कूलों के जीर्णोद्धार जैसी योजनाओं में सहभागी बनिए। 

    • 2017 से सीएम योगी के नेतृत्व में योजनाओं की बारिश : रविकिशन

    इस अवसर पर गोरखपुर के सांसद रविकिशन शुक्ल ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में वर्ष 2017 से गोरखपुर समेत पूरे प्रदेश पर विकास योजनाओं की बारिश हो रही है। गोरखपुर में तो अभूतपूर्व व अकल्पनीय विकास हुआ है। यहां रामगढ़ताल फिल्मों की शूटिंग के लिए पसंदीदा स्थान बन चुका है। इससे रोजगार के अवसर भी बढ़ रहे हैं । आज गोरखपुर के विकास की चर्चा पूरे देश में है। स्वागत संबोधन गोरखपुर ग्रामीण के विधायक विपिन सिंह व आभार ज्ञापन महापौर सीताराम जायसवाल ने किया। लोकार्पण व शिलान्यास समारोह में बांसगांव के सांसद कमलेश पासवान,  जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती साधना सिंह, विधायकगण श्रीराम चौहान, महेन्द्रपाल सिंह, राजेश त्रिपाठी, सरवन निषाद, डॉ विमलेश पासवान, प्रदीप शुक्ला, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह, जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

    • दिव्यांगजन को मोटराइज्ड ट्राई साइकिल, बच्चों का अन्नप्राशन व महिलाओं की गोदभराई

    कार्यक्रम स्थल पर मुख्यमंत्री ने दिव्यांगजन का जीवन सुगम बनाने के लिए उन्हें मोटराइज्ड ट्राई साइकिल प्रदान की। साथ ही बच्चों को दुलार कर अन्नप्राशन कराया। सीएम ने पोषण आहार की टोकरी प्रदान कर गर्भवती महिलाओं की गोदभराई भी की। 

    विभिन्न विभागों के स्टालों का अवलोकन किया मुख्यमंत्री ने परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करने से पूर्व सीएम योगी ने कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न विभागों यथा कृषि, पशुपालन, खाद्य प्रसंस्करण, शिक्षा आदि की तरफ से लगाए गए स्टालों का अवलोकन भी किया। 

    • पात्रों को प्रदान किया योजनाओं का लाभ

    मंच से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम स्वनिधि योजना, पीएम आवास योजना, कृषि यंत्र योजना, सीएम आवास योजना ग्रामीण, आयुष्मान भारत योजना, पॉली हाउस योजना, ड्रिप सिंचाई योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, स्वच्छ भारत मिशन आदि के पात्रों को लाभान्वित किया। 

    • 181 विकास कार्यों का लोकार्पण व 27 का शिलान्यास किया सीएम ने

    मुख्यमंत्री ने 298 करोड़ 81 लाख 72 हजार रुपये से अधिक की लागत वाली 181 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व 164 करोड़ 77 लाख 95 हजार रुपये से होने वाले 27 विकास कार्यों का शिलान्यास किया। लोकार्पित परियोजनाओं में बांसगांव-उरुवा मार्ग का चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण, मानीराम-बालापार-टिकरिया-गांगी बाजार मार्ग का चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण,गुलरिहा-रामनगर मार्ग मार्ग का चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण, पीपीगंज-अकटहवा-कल्याणपुर-नवापार मार्ग का चौड़ीकरण व सुदृढ़ीकरण, रोहिन नदी के बाएं तट पर बनरहा तटबंध का सुदृढ़ीकरण व उच्चीकरण, वसुंधरा मोड़ से तुर्रा नाले तक आरसीसी नाले का निर्माण कार्य शामिल है। जिन परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ उनमें बाढ़ बचाव व सड़क निर्माण की परियोजनाएं शामिल हैं।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.