Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या। नवम्बर में श्रीरामजन्भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट मंदिर परिसर के बाहर करेगा एक विशेष अनुष्ठान।

    ........ श्रीरामचंद्र प्रीत्यर्थं के संकल्प के साथ शुरू होगा अनुष्ठान

    अयोध्या। श्रीरामजन्भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट मंदिर परिसर के बाहर एक विशेष अनुष्ठान की तैयारी कर रहा है। यह अनुष्ठान तब तक अनावरत जारी रहेगा जब तक नवनिर्मित भव्य राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला विराजमान नहीं हो जाते हैं। कई प्रदेशों के वैदिक आचार्य इस अनुष्ठान को पूरा करने में सहायक होंगे। महाराष्ट्र के एक धार्मिक ट्रस्ट ने इस विशेष अनुष्ठान का प्रस्ताव श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के समक्ष रखा है। अभी इसके लिए रामकोट मोहल्ले में स्थित गणपति धर्मशाला के चयन पर विचार चल रहा है। इस महत्वपूर्ण अनुष्ठान की शुरुआत श्रीरामचंद्र प्रीत्यर्थं के संकल्प के साथ होगी।

    महाराष्ट्र के एक धार्मिक ट्रस्ट ने इस विशेष अनुष्ठान का प्रस्ताव श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के समक्ष रखा है। कई प्रांतों के वैदिक विद्वानों ने भी यहां जप-पाठ की इच्छा जताई। इसी के बाद ट्रस्ट ने अनुष्ठान कराने का निर्णय लिया। बाहरी विद्वानों तो रहेंगे ही स्थानीय विद्वान सहभागी होंगे। 15-15 दिन की अवधि के अनुष्ठान की श्रृंखला का प्रारूप है, जिसें आठ से दस विद्वान संपन्न कराएंगे। एक ट्रस्टी ने बताया कि, यह अनुष्ठान अलग-अलग प्रदेशों के विद्वानों के संकल्प को पूर्ण करने का माध्यम होगा।

    इसके साथ ही श्रीरामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण प्रारंभ होने के साथ ही नियमित अनुष्ठान का क्रम चल रहा है। प्रातकाल यहां वैदिक विद्वान विहव्य, पृथ्वी, पुरुष, श्री, रुद्र व वास्तु सूक्त के मंत्रों के पारायण के साथ ही आहुतियां डाली जाती हैं। यह अनुष्ठान मंदिर निर्माण तक चलता रहेगा।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.