Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कन्नौज। सरकार की सख्त हिदायद के बावजूद कन्नौज जिले की छिबरामऊ पुलिस लगातार सरकार की साख पर बट्टा लगाने पर तुली हुई है।

    रहीश खान\कन्नौज। यूपी के कन्नौज जिले में पुलिस किस तरह से हिस्ट्रीशीटरो पर मेहरबान रहती है इसकी एक तस्वीर छिबरामऊ कोतवाली के कमालपुर में देखने को मिली। यहां हिस्ट्रीशीटरो ने एक घर पर हमला बोलकर लाठी डंडो से कई महिलाओं को लहूलुहान कर दिया। हमले का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो सामने आने के बावजूद छिबरामऊ कोतवाली पुलिस ने हिस्ट्रीशीटरो पर 151 की धारा लगाई वही पीड़ित पक्ष जिसमे कई महिलाये घायल हुईं उनपर गम्भीर धारा लगाकर जेल भेजने की तैयारी कर ली। हिस्ट्रीशीटरो के हमले में घायल हुये लोगो ने बताया कि कुछ दिन पहले उनके पिता का कुछ झगड़ा हुआ था जिसके बाद समझौता हो गया। 

    घटना वाले दिन घर पर सिर्फ महिलाये थी। हमलावर अशोक अल्बर जो कि हिस्ट्रीशीटर है और विजय विनीत ने लाठी डंडो से महिलाओ की जमकर पिटाई की। हमले का विरोध करने जब पीड़ित पक्ष पहुँचा तो उनपर भी दबंगो ने लाठियों से वार कर दिया। पीड़ितों ने बताया कि एक दबंग 14 साल की जेल काटकर आया है। पुलिस पर आरोप लगाते हुए घायलों ने बताया कि पुलिस उनकी सुनवाई नही कर रही है पुलिस ने हिस्ट्रीशीटरो पर मामूली धारा लगाई और हम गम्भीर घायलों पर गंभीर धारा लगा दी। वही फ़ोन पर घटना की जानकारी देते हुये छिबरामऊ कोतवाली प्रभारी ने बताया कि निकासी को लेकर दोनों पक्षो में विवाद हुआ है दोनो पक्ष के लोग घायल है पुलिस ने दोनों पक्षो के लोगो को गिरफ्तार किया है। सूत्रों की माने तो जब दो दिन पहले दोनों पक्षो के बीच विवाद हुआ था पुलिस को जानकारी थी एक पक्ष के लोग हिस्ट्रीशीटर है अब सवाल ये उठता है जब पुलिस को जानकारी थी तो पुलिस ने समझौता क्यों कराया दोनो पक्षो पर कार्यवाही क्यों नही की। पुलिस की लचर कार्यशैली के चलते मामूली विवाद खूनी संघर्ष में बदल गया। छिबरामऊ पुलिस अपनी किरकिरी बचाने के लिए अब मनगढ़ंत कहानियों बता रही है।।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.