Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    चित्तौड़गढ़\राजस्थान। राजस्थान शिक्षक संघ राधाकृष्णन के जिलामहामंत्री ने ज्ञापन देते हुए कहा प्रधानाचार्यो को उनके संबंधित ब्लॉक में ही पदस्थापित किया जाए।

    चित्तौड़गढ़\राजस्थान। राधाकृष्णन शिक्षक संघ की मांग महात्मा गांधी अंग्रेजी विद्यालय होने के कारण APO किए प्रधानाचार्यो को संबंधित ब्लॉक में ही दिया जाए पद स्थापन राज्य सरकार ने अभी हाल ही में प्रदेश में बहुत सी हिंदी माध्यम विद्यालयों को अंग्रेजी माध्यम में बदल दिया है। इस प्रकार बदलने से वहा पहले से अध्यनरत विद्यार्थियों का क्या होगा यह तो चिंता का विषय है ही, साथ ही उस विद्यालय में पदस्थापत प्रधानाचार्य को भी वहा से हटाया गया है । अन्य स्टाफ को हटाने पर तो काउंसलिंग के माध्यम से पदस्थापित किया जाता है। लेकिन प्रधानाचार्यो को नही, जबकि बड़ी मुश्किल से या बहुत प्रयास से कोई अपने बच्चो के साथ रहने का अपना पदस्थापन नजदीक करवाए होगे। अब अंग्रेजी माध्यम विद्यालय बनने से उनके ललाट पर चिंता की रेखाएं बनी हुई है साथ ही इनके परिवार के सदस्यों को भी चिंता है की अब कहा पद स्थापित किया जायेगा।

    इसमें इन प्रधानाचार्यो की क्या गलती है। चित्तौड़गढ़ ज़िला महामंत्री कान सिंह सुवावाने कहा की मुख्यमंत्री सदैव कर्मचारियों के हितेषी रहे है ,कर्मचारियों के प्रति सरकार का पक्ष सदैव सकारात्मक रहा है। अत: राधाकृष्णन शिक्षकसंघ मुख्य मंत्री से एवं शिक्षा मंत्री से मांग करते है की अंग्रेजी माध्यम विद्यालय  बनने से apo प्रधानाचार्यो को उनके संबंधित ब्लॉक में ही पदस्थापित किया जाए। संबंधित ब्लॉक में रिक्त पद नही होने पर पूर्व पदस्थापित जिले में ही पदस्थापित करना चाहिए। राजस्थान शिक्षक संघ राधाकृष्णन के जिलामहामंत्री कान सिंह सुवावा ने बताया कि इस ज्ञापन हेतु, प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष प्रमोद गौड के सानिध्य एवं विशिष्ट अतिथि प्रदेश संगठन मंत्री लाल सिंह अमराणा, जिला अध्यक्ष दुर्गा प्रसाद गौड़ की अध्यक्षता में बैठक आयोजित हुई। सभा में उपस्थित अतिथियों ने राधाकृष्णन की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित किया। शुभारंभ में जिला अध्यक्ष दुर्गा प्रसाद गौड़ ने स्वागत उद्बोधन दिया। 

    कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रमोद गौड़ ने सदस्य अभियान पर बल दिया। कार्यक्रम में प्रदेश प्रतिनिधि अनिल शर्मा, जिला शिक्षिका सेना संयोजिका झूला लोढ़ा, त्रिलोक शुक्ला, सुनील पलोड़, आबिद हुसैन, दिनेश पटवा, शक्ति सिंह राव, प्रेमचंद सालवी ,शैलेंद्र निगम, तिलकश टेलर ,दीनदयाल नारायणीवाल, सतीश दशोरा आदि ने विचार व्यक्त किया। कार्यक्रम  का संचालन कान सिंह सुवावा ने किया। अन्त में आभार अनिल शर्मा ने व्यक्त किया।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.