Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गाजीपुर। आल इंडिया पयामे इंसानियत फोरम सद्भावना और भाईचारे को लेकर निरन्तर प्रयत्नशील।

    महताब आलम/गाजीपुर। मानवता सन्देश अभियान अर्थात आल इंडिया पयामे इंसानियत फोरम की स्थापना का उद्देश्य देश भर में सद्भावना और भाईचारे का वातावरण बनाना है और वह अपने स्थापना दिवस से ही निरन्तर देशवासियों में आपसी प्रेम,सद्भावना और सौहार्द को सुदृढ़ करते हुए देशवासियों को राष्ट्रसेवा में सहयोग प्रदान करने के लिए प्रेरित करती आ रही है। इसी क्रम में फोरम की ग़ाज़ीपुर यूनिट भी सद्भावना और भाईचारे को लेकर निरन्तर प्रयत्नशील है और उसके लिये वह शहर से लेकर गांव-देहात तक में सामाजिक सौहार्द हेतु संवाद स्थापित कर रही है।

    अतःइसी क्रम में आज दिनांक 29 जून 2022 को ग़ाज़ीपुर से एक प्रतिनिधिमंडल जिसमें नजमुस्साकिब अब्बासी,मौलाना अनस हबीब क़ासमी,आबिद हुसैन और अरमान अंसारी शामिल थे,ग़ाज़ीपुर सदर तहसील के प्रसिद्ध गांव अंधऊ गया जहां सामाजिक सौहार्द को मज़बूती देने के लिये प्रबुद्ध जनों में संवाद स्थापित किया गया। गोष्टी में चर्चा करते हुए नजमुस्साकिब अब्बासी नदवी ने कहा कि सद्भावना और मानवता इस समय की सबसे बड़ी ज़रूरत बन चुकी है,इसके बिना देश और समाज की तरक़्क़ी नहीं की जा सकती।इसलिए हमें चाहिये कि सद्भावना का एक ऐसा कारवाँ तैयार करें जो मानवता का सन्देश को कोने-कोने पहुंचाये।

     मौलाना अनस हबीब क़ासमी ने कहा सद्भावना और मानवता जिस समाज से निकल जाती है वह समाज असभ्य हो जाता है और फिर उससे कोई नेकी और भलाई की उम्मीद नहीं की जा सकती। आबिद हुसैन ने कहा कि भौतिकता के दौड़ में ज़रूरी है कि मानवता और सद्भावना की भी देखभाल की जाए और उसे पिछड़ने न दिया जाय बल्कि उसे स्थायित्व प्रदान किया जाय। अरमान अंसारी ने कहा कि हम सब को सद्भावना और मानवता को अपने जीवन में महत्वपूर्ण स्थान देना होगा ताकि देश और समाज तेज़ी से तरक्की करे।

     इस सँवाद गोष्टी को आयोजित कराने में मुख्य रूप से साबिर जमील और डॉक्टर घनश्याम प्रजापति की मुख्य भूमिका रही। इस अवसर हाफ़िज़ मुख़्तार अहमद,अरविंद कुमार,रामदयाल,बद्रीराम,विजय कुशवाहा,अयान अहमद,आसिफ अली आदि उपस्थित थे। 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.