Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बहराइच। कलावती देवी स्मारक महाविद्यालय में आयोजित हुआ वाद विवाद कार्यक्रम, अग्निपथ योजना पर खुलकर बोले छात्र-छात्राएं।

    ......... अधिकांश युवाओं ने अच्छाइयों को समझ योजना का किया स्वागत

    बहराइच। केन्द्र सरकार ने बेरोजगारी दूर करने और युवाओं को शार्ट टर्म नौकरी देने के लिए अग्निपथ योजना लागू की है। जिसके विरोध में देश भर में आगजनी व हिंसा हो रही है। वहीं अधिकांश युवा इसकी अच्छाइयों को समझ कर फैसले का खुले मन से स्वागत कर रहे है। इसी ज्वलंत मुद्दे को लेकर शुक्रवार को बेड़नापुर स्थित कलावती देवी स्मारक महाविद्यालय में अग्निपथ योजना पर वाद विवाद प्रतियोगिता आयोजित की। प्रतियोगिता का विषय था अग्निवीर, बदलाव या बेरोजगारो के साथ छलावा। जिसमें बीएड प्रथम वर्ष के छात्रों ने सहभागिता की। 

    कार्यक्रम का निर्देशन बीएड विभागाध्यक्ष सचिन श्रीवास्तव ने किया। पक्ष में बोलते हुए छात्र अनुराग मिश्र ने कहा कि यह योजना युवाओं के लिए मील का पत्थर साबित होगी। छात्र प्रमोद सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार की यह योजना बेरोजगारी के दंश को खत्म करने में एक क्रांतिकारी परिवर्तन होगा। सभी को इस योजना का स्वागत करना चाहिए। छात्र विनय सिंह कुशवाहा ने विपक्ष में बोलते हुए कहा कि यह योजना बेरोजगारों के लिए बस छलावा मात्र है। इससे भ्रष्टाचार बढ़ेगा। छात्रा शशि देवी ने कहा कि अग्निपथ योजना से युवाओ को सम्मान मिलेगा। छात्र छत्रपाल ने कहा कि इस योजना में ट्रेनिंग का समय कम है। यह योजना सफल नही होने वाली। विपक्ष में बोलते हुए सौरभ बाजपेयी ने कहा कि युवाओं के सपने बड़े थे और सरकार ने युवाओ को संविदा पर लाकर अटका दिया। छात्रा अनुभा ने कहा कि यह योजना युवाओं के लिए मार्गदर्शन का काम करेगी। पक्ष में बोलते हुए यशवंत श्रीवास्तव ने कहा कि अग्निपथ के जरिये युवाओ को सम्मान मिलेगा।अपने हुनर से सेना के बाद कोई और कार्य कर सकते है, जिसकी पूर्ण स्वन्तत्रता है। 

    छात्र कुलदीप ने कहा कि सेना की भर्ती के साथ युवाओं को शिक्षा भी मिलेगी। जिसके लिए इग्नू व अन्य शैक्षिक संगठन एमओयू साइन करेंगे। छात्रा रेखा मिश्र व सत्य सिंधु ने भी इस विषय पर अपने विचार रखे। अंत में विषय पर बोलते हुए बीएड विभागाध्यक्ष सचिन श्रीवास्तव ने युवाओं से अपील की कि यह एक सुनहरा अवसर है। इस योजना में बढ़ चढ़ कर प्रतिभाग करे। सभी का इसे स्वागत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिंसा हर बात का हल नही है। विरोध और हिंसक घटनाओं में अंतर होता है।

    Initiate News Agency (INA) ,बहराइच

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.