Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद। एनआईए की कार्रवाई, मदरसा छात्र को हिरासत में लिया।

    ............. रोहिंग्या शरणार्थी है छात्र, उसके पास से बरामद हुआ यूएनएचआरसी का कार्ड

    शिबली इकबाल/ देवबंद। एनआईए (राष्ट्रीय जांच एजेंसी) की टीम ने बुधवार को नगर के एक मदरसे से इस्लामी तालीम हासिल कर रहे रोहिंग्या शरणार्थी को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। टीम पहले छात्र को कोर्ट में लेकर गई और यहां से वह उसे अपने साथ ले गई है। हालांकि छात्र को हिरासत में लिए जाने के संबंध में स्थानीय अधिकारी कुछ भी बताने को तैयार नहीं है।

    नगर की रेलवे रोड चैकी के बाहर खडी एनआईए की टीम

    बुधवार की दोपहर राष्ट्रीय जांच एजेंसी की टीम स्टेट हाईवे-59 स्थित एसडीएम कार्यालय से सटे मदरसा जकरिया में पहुंची। यहां से टीम ने अरबी कक्षा छह में पढ़ने वाले रोहिंग्या शरणार्थी छात्र को हिरासत लिया। जिसे टीम कोर्ट में लेकर गई और कुछ देर वहां रुकने के बाद वह उसे अपने साथ ले गई। बताया गया है कि छात्र का नाम मुजीबुल्लाह पुत्र हबीबुल्ला (19) है,जो सोविता फरिका राज्य अरकान म्यांमार का निवासी है। वह पिछले करीब एक माह से मदरसा जकरिया में इस्लामी तालीम हासिल कर रहा था और मोहल्ला महल में कमरा किराये पर लेकर रह रहा था मुजीबुल्लाह के पास से एनआईए को संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त कार्यालय (यूएनएचआरसी) में पंजीयन का कार्ड भी मिला है। बताया जाता है कि छात्र का कोई मामला न्यायालय में विचाराधीन है और एनआईए की टीम कोर्ट के आदेश पर ही उसे अपने साथ लेकर गई है। हालांकि इस संबंध में स्थानीय अधिकारी कुछ भी नहीं बोल रहे हैं।

    पूर्व में गिरफ्तार संदिग्ध आतंकी इनामुलहक का फाईल फोटो

    मुजीबुल्लाह को रेलवे रोड लेकर पहुंची एनआईए की टीम

    न्यायालय में पेश करने के बाद एनआईए की टीम छात्र मुजीबुल्ला को उत्तराखंड नंबर की सफेद रंग की इनोवा कार में रेलवे रोड पुलिस चैकी लेकर पहुंची। यहां एनआईए टीम के अधिकारी उसे लेकर कार में ही बैठे रहे। कुछ देर बाद खानकाह पुलिस चैकी के दो सिपाही एक बैग टीम को देने पहुंचे। जिसके बाद टीम यहां से रवाना हो गई।

    महाराष्ट्र एटीएस ने इनामुल के कमरे को खंगाला 

    नगर की नजमी बिल्डिंग से विगत 14 मार्च को गिरफ्तार किए गए झारखंड निवासी संदिग्ध आतंकी इनामुलहक को महाराष्ट्र एटीएस बुधवार को साथ लेकर बिल्डिंग में पहुंची। यहां एटीएस ने उसके कमरे की बारीकी से तलाशी ली। इनामुलहक फर्जी दस्तावेजों के आधार पर उक्त बिल्डिंग में कमरा किराये पर लेकर रह रहा था। एटीएस ने राष्ट्रविरोधी गतिविधियों के आरोप में उसे गिरफ्तार किया था। बाद में हुई जांच में उसके संबंध आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े मिले थे। बीते दिनों पुणे में पकड़े गए जुनैद नामक संदिग्ध आतंकी ने पूछताछ में इनामुलहक को अपना साथी बताया था। जिसके चलते महाराष्ट्र एटीएस देवबंद उपकारागार से उसे ट्रांजिट रिमांड पर लेकर गई थी।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.