Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    वाराणसी। चलती कार पर गिरा जर्जर मकान का छज्जा, दस घायल।

    .......... इलाज के लिए कार सवार जा रहे थे कैंसर अस्पताल, भर्ती कराए गए कबीरचौरा अस्पताल में

    वाराणसी। जैतपुरा क्षेत्र के नक्खी घाट में सोमवार सुबह बड़ा हादसा हो गया। जर्जर मकान का छज्जा गिरने से 10 से लोग घायल हो गए। मलबे की चपेट में आने एक चलकी कार और दो बाइकें क्षतिग्रस्त हो गईं। सभी घायलों को स्थानीय लोग और पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया।हादसे के बाद मौके पर घायलों की चीख-पुकार मच गई थी। दूसरी ओर सड़क पर मकान का छज्जा गिरने के कारण नक्खीघाट-चौकाघाट मार्ग पर यातायात भी बाधित रहा। नक्खी घाट रेलवे डॉट पुल के पास प्रदीप सोनकर का पुराना मकान है। 

    सोमवार सुबह मकान का छज्जा अचानक भरभरा कर सड़क पर गिर गया। जिसकी चपेट में मौके से गुजर रही एक कार आ गई। छज्जे का मलबा जब कार पर गिरा तो इतनी तेज आवाज आई कि स्थानीय लोग सहम गए और उस ओर दौड़े। यहां देखा तो कार पलटी हुई और काफी हद तक क्षतिग्रस्त भी हो चुकी है। कार में फंसे लोग चिल्लाने लगे। हादसे में कार सवार सिंधौरा निवासी आलोक कुमार (36), उनकी पत्नी सोनी (32), भाई दीपक (30), रिश्तेदार राकेश (34), और इंद्रजीत (31) कार में फंस गए। स्थानीय लोगों ने आननफानन घायलों को कार से बाहर निकाला। वही सिरे गांव निवासी बाइक सवार वीरेंद्र कुमार (45), सारंग तालाब निवासी बाइक सवार विशाल जायसवाल (40), स्थानीय युवक जिशान (17) और मकान मालिक प्रदीप सोनकर के बच्चे सुधा (12) और बाबू 10 भी छज्जे के मलबे के नीचे दब गए। हादसे के बाद मौके पर अफरातफरी मच गई। स्थानीय लोगों ने पुलिस के साथ मिलकर किसी प्रकार मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाला और इलाज के लिए अस्पताल ले गए। हादसे में स्थानीय युवक जिशान को सिर और चेहरे पर गंभीर चोटों आईं हैं। वह पेशे से बुनकरी का काम करता है। मंडलीय अस्पताल में भर्ती जिशान की हालत गंभीर बनी हुई है।हादसे में घायल कार सवार सिंधौरा निवासी आलोक कुमार हरदोई वन विभाग में तैनात हैं। परिवार के साथ वह बीएचयू स्थित महामना कैंसर हॉस्पिटल अपने इलाज के लिए जा रहे थे।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.