Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    ग़ाज़ीपुर। मोहम्मदाबाद नगर पालिका और बीआरसी पर हुआ विशेष संचारी नियंत्रण अभियान का प्रशिक्षण।

    महताब आलम/ग़ाज़ीपुर। विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दस्तक अभियान जो 1 जुलाई से 31 जुलाई तक पूरे जनपद में चलाया जाना है। इस अभियान के लिए कई विभागों का विभागीय समन्वय के माध्यम से इस अभियान को बेहतर रूप से संचालन करने के लिए लगातार प्रशिक्षण एवं बैठकर चल रही है। इसी कड़ी में शनिवार को मोहम्मदबाद के बीआरसी केंद्र एवं नगर पालिका कार्यालय के भवन में कर्मियों को संवेदीकरण करने का प्रशिक्षण दिया गया है। यह अभियान में 1 से 15 मई तक विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलेगा वही 16 से 31 तक दस्तक अभियान भी चलाया जाएगा।

    सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोहम्मदाबाद के अधीक्षक डॉ आशीष राय ने बताया कि 1 जुलाई से 31 जुलाई तक चलने वाला विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दस्तक अभियान जो कई विभागों के समन्वय से चलाया जाना है। जिसको लेकर प्रशिक्षण का कार्य शुरू कर दिया गया है इसी कड़ी में शुक्रवार को मोहम्दाबाद ब्लॉक अंतर्गत बीआरसी में एबीएसए सुनील कुमार पटेल के द्वारा शिक्षकों का संवेदीकरण कार्यक्रम किया गया। उन्हें बताया गया कि जब यह अभियान शुरू होगा उन लोगों को इस अभियान में किस तरह से अपना सहयोग देना है।

    बीपीएम संजीव कुमार ने बताया कि इसके अलावा नगर पालिका मोहम्मबाद के कार्यालय में सफाई निरीक्षक राजकुमार की अगुवाई में संवेदीकरण कार्यक्रम किया गया। जिसमें नगर पालिका के सभी कर्मचारी मौजूद रहे। इस दौरान उन्हें 1 जुलाई से 31 जुलाई तक चलने वाले संचारी रोग नियंत्रण अभियान नगर पालिका के द्वारा आशा एवं अन्य कार्यकर्ता को किस प्रकार से सहयोग करना है। ताकि अधिक से अधिक संचारी रोग पर नियंत्रण पाया जा सके। इसको लेकर विस्तृत रूप से उन्हें जानकारी दी गई।

    उन्होंने बताया की जनसहभागिता के माध्यम से समाज में साफ-सफाई, मच्छरों की निरोधात्मक कार्रवाई, जल जमाव को रोकने की रणनीति तैयार की जाये एवं समाज की सहभागिता से संचारी रोगों के फैलाव को रोका जाये। ग्रामीण क्षेत्रों में आशा, एएनएम द्वारा मातृ समूहों की बैठक, पानी को क्लोरीन टैबलेट के माध्यम से साफ करने का प्रदर्शन, हाथ धोने का प्रदर्शन, खुले में शौच से मुक्ति, गंदगी व कूड़े के ढेर की सफाई तथा कूड़े का उचित निस्तारण के सम्बन्ध में व्यापक जन जागरूकता के कार्यक्रम किये जायेंगे। ग्राम प्रधानों द्वारा इन कार्यक्रमों में पंचायत समितियों के पदाधिकारियों सहित प्रभावी कार्रवाई की जायेगी। साथ ही विद्यालयों में अध्यापकों द्वारा प्रार्थना सभा के समय छात्र छात्राओं को साफ-सफाई का महत्व, मच्छरों से बचने के उपाय, हर रविवार-मच्छर पर वार आदि विषयों की जानकारी दी जायेगी। संचारी रोगों का उपचार करने से ज्यादा जरूरी है कि संचारी रोगों की रोकथाम करते हुये उनसे बचाव किया जाये। समाज में संचारी रोगों के सम्बन्ध में पर्याप्त जानकारी तथा क्या करें-क्या न करें का प्रचार-प्रसार कर संचारी रोगों पर नियंत्रण किया जा सकता ।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.