Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बलिया। धधकी 'अग्निपथ' की आग, युवाओं ने फूंकी ट्रेन, बलिया से गुजरने वाली कई ट्रेनें प्रभावित, डीएम-एसपी ने संभाला मोर्चा।

    ......... स्टेशन पर तोड़फोड़, दुकानों व बसों को भी तोड़ा

    .............. मंत्री दयाशंकर सिंह के जनसम्पर्क कार्यालय पर फाड़े पोस्टर

    बलिया। अग्निपथ योजना के खिलाफ शुक्रवार की सुबह ही बवाल शुरू हो गया। युवकों ने न सिर्फ बलिया-वाराणसी मेमू व बलिया-शाहगंज ट्रेन में तोड़फोड़ की, बल्कि प्लेटफार्म की दुकानों व निजी बस को भी तोड़ा। पुलिस, पुलिस चौकी, मालगोदाम, सड़कों पर भी पथराव किया। 

    रुक-रुक कर दोपहर तक बवाल होता रहा। प्रदर्शनकारियों ने वॉशिंटपिट में खड़ी एक ट्रेन की बोगी में आग भी लगा दी। इस दौरान पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। आंसू गैस के गोले दागने पड़े। बवाल की वजह से स्टेशन के आस-पास बंदी जैसा माहौल रहा। कई ट्रेनें प्रभावित हुई। 

    अग्निपथ योजना के विरोध में शुक्रवार तड़के ही युवाओं के कई गुटों में एकत्र होने की सूचना पर बलिया पुलिस सक्रिय हो गई। स्टेडियम में युवाओं ने सीओ प्रीति त्रिपाठी को अग्निपथ योजना के विरोध में पत्रक सौंपा। 

    इसके बाद वापस जाने के लिए युवा रेलवे स्टेशन की तरफ बढ़े। इस दौरान स्टेशन पर बवाल शुरू कर दिया। पत्थरबाजी करने के साथ ही युवाओं ने तोड़फोड़ शुरू कर दी। रेलवे स्टेशन स्थित दो दुकानों को क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया तो रेलवे लाइन पर खाली खड़ी ट्रेन की एक बोगी में आग लगा दी। आग की सूचना के बाद मौके पर फायर बिग्रेड को बुला लिया गया। युवा जगह-जगह पत्थरबाजी करते रहे। युवकों ने मंत्री व नगर भाजपा विधायक दयाशंकर सिंह के भृगुआश्रम स्थित जनसम्पर्क कार्यालय पर लगे बैनर को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। 

    पुलिस युवाओं को दौड़ाकर तितर-बितर करती रही। पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े। लाठियां भांजी। पुलिस ने दर्जनों युवकों को हिरासत में लिया हैं। जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने कहा कि पुलिस भीड़ से बड़े पैमाने पर नुकसान से बचाने में कामयाब रही। उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई होगी। वहीं, पुलिस अधीक्षक राज करन नय्यर ने कहा कि विरोध के वीडियो की जांच हो रही हैं। उपद्रवियों को किसी भी दशा में बख्सा नहीं जायेगा। 

    बिना अनुमति नहीं खुलेंगे स्कूल और कोचिंग

    बलिया। डीआईओएस राकेश कुमार ने कहा है कि जनपद के सभी बोर्ड के सभी माध्यमिक विद्यालय ग्रीष्मावकाश में बंद हैं। किसी भी दशा में कोई भी विद्यालय बिना ज़िला विद्यालय निरीक्षक के पूर्वानुमति के नहीं खोले जाएंगे। मुख्यालय और आस-पास के विद्यालयों के कार्यालय भी अग्रिम आदेश तक बंद रहेंगे। इसी क्रम में सभी प्रकार के कोचिंग संस्थान भी अगले आदेश बंद रखें जाय।आदेश का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।

    Initiate News Agency (INA), बलिया   


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.