Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवरिया। जिलाधिकारी ने नलकूप खंड देवरिया एवं नलकूप खंड सलेमपुर के अधिशासी अभियंताओं को 'कारण बताओ नोटिस' किया जारी।

    देवरिया। जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने नलकूप खंड देवरिया एवं नलकूप खंड सलेमपुर के अधिशासी अभियंता को समीक्षा बैठक में गलत सूचना देने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है। उन्होंने कहा कि धान रोपाई के दृष्टिगत समस्त नलकूप अपनी अधिकतम क्षमता के अनुरूप चलाये जाए, जिससे किसानों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। 24 जून को जनपद में सप्ताहांत बंद नलकूपों की समीक्षा की गई थी, जिसमें अधिशासी अभियंता नलकूप खंड सलेमपुर विक्रम सिंह ने बताया कि मोटर जलने की वजह से 2 तथा विद्युत दोष की वजह से 5 नलकूप बंद हैं। इसी प्रकार नलकूप खंड देवरिया के अधिशासी अभियंता गौरव सिंह ने बताया कि मोटर जलने से एक तथा विद्युत दोष की वजह से 6 नलकूप बंद हैं।

    जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंताओं द्वारा प्रदत्त सूचना की जाँच कराई गई। ऐसी 1010 ग्राम पंचायते एवं राजस्व ग्राम, जहाँ  नलकूप लगें हैं, वहां के ग्राम प्रधानों, कृषकों एवं नलकूप चालकों से संपर्क कर वास्तविक स्थिति का जायजा लिया गया। जाँच में अधिशासी अभियंताओं द्वारा बताए गए कुल 14 नलकूप के सापेक्ष 76 नलकूप बंद मिले। कुल 1010 में से 934 नलकूप चालू अवस्था में मिले।

    जांच में वास्तविक स्थिति सामने आने के बाद जिलाधिकारी ने गहरी नाराज़गी व्यक्त करते हुए दोनों अधिशासी अभियंताओं को कड़ी फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि जनपद में कई स्थानों पर धान रोपाई का कार्य प्रारंभ हो चुका है। किसानों को धान रोपाई के लिए पानी उपलब्ध कराने में नलकूपों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ऐसे में नलकूप खंड सलेमपुर एवं देवरिया के अधिशासी अभियंताओं द्वारा गलत एवं भ्रामक सूचना देकर गुमराह करने का प्रयास किया गया है। अपने पदीय दायित्वों का प्रति लापरवाही बरतने एवं गलत सूचना देने पर इन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। तीन दिन की समयसीमा में इन्हें जवाब देना होगा। जवाब संतोषजनक न होने पर दंडात्मक कार्यवाही के लिए शासन को पत्र लिखा जाएगा।

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.