Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गोरखपुर। आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत वित्त मंत्रालय के निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) की तरफ से सम्मेलन का आयोजन।

    ........... सुरक्षित और निरंतर आयदायी निवेश पर हुआ मंथन, विशेषज्ञ वक्ताओं ने समझाया, छोटा निवेश भी बड़े काम आता है। 

    गोरखपुर। वित्त मंत्रालय के निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग की तरफ से आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत शुक्रवार को देश के 75 शहरों में एक साथ एक समय पर "पूंजी बाजार के माध्यम से संपदा सृजन" विषय पर सम्मेलन का आयोजन किया गया। गोरखपुर में यह सम्मेलन योगिराज गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में हुआ। मुख्य अतिथि के रूप में जॉइंट मजिस्ट्रेट कुलदीप मीणा उपस्थित रहे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के वर्चुअल संबोधन से शुभारंभ के बाद यहां आयोजित सम्मेलन में वित्त के विभिन्न पहलुओं से जुड़े विशेषज्ञों ने अपने विचार व्यक्त करते हुए वित्तीय आवश्यकता को पूर्ण करने वाले निरंतर आयदायी और सुरक्षित निवेश के तरीके पर मंथन किया।  

    विशेषज्ञ वक्ता नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के चीफ मैनेजर ऋषि कुमार ने एनएसई के क्रियाकलापों की जानकारी देते हुए बताया कि सोचकर, समझकर निवेश कर के फार्मूले के तहत एनएसई की तरफ से अबतक 3500 निवेशक जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। निवेश में धन की सुरक्षा बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि हमें यह भी समझना होगा कि पूंजी बाजार सिर्फ शेयर मार्केट नहीं है। 

    बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के एग्जीक्यूटिव प्रीथेश सिंह ने लोग खुद के भविष्य में संभावित वित्तीय चुनौतियों का आकलन कर निवेश करते हैं। निवेश करते समय सुरक्षा, आवश्यकता, आकार व तरलता का ध्यान देना जरूरी है। उन्होंने भावी वित्तीय जरूरतों की पूर्ति के लिए समय पर निवेश योजना बनाने का सुझाव दिया।

    निप्पोन इंडिया म्यूच्यूअल फंड के एसोसिएट रीजनल हेड राजेश मानकताला ने म्यूच्यूअल फंड के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि आज म्यूच्यूअल फंड इंडस्ट्री 39 लाख करोड़ रुपये की है। छोटी बचत बड़े काम आती है। बचत व निवेश को अंतर को जानकर हमें सही जगह पैसा लगाना चाहिए। एसएमसी के समीर कुमार दूबे ने निवेश के अलग अलग माध्यमों की तुलनात्मक जानकारी दी। सम्मेलन में आगतों के प्रति आभार ज्ञापन लीड बैंक जिला प्रबंधक आरके पांडेय ने किया। इस अवसर पर संयुक्त आयकर आयुक्त एपी मणि, एसबीआई के डीजीएम संजीव कुमार, पीएनबी के डीजीएम राजीव जैन, बैंक ऑफ बड़ौदा के डीजीएम सर्वेश सिन्हा, एसबीआई के एजीएम योगेश टंडन, सेंट्रल बैंक के एलबी झा, चैंबर ऑफ इंडस्ट्रीज के पूर्व अध्यक्ष एसके अग्रवाल, गोरखपुर चैप्टर ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट्स के अध्यक्ष संजय वर्मा, रेडीमेड गारमेंट उद्यमी रमाशंकर शुक्ल, सीए स्टूडेंट्स समेत बड़ी संख्या में वित्त के प्रति जागरूक लोग उपस्थित रहे।

    Initiate News Agency (INA), गोरखपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.