Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    खैराबाद\सीतापुर। औलिया अल्लाह की शिक्षाओं पर अमल करें,अपने माता पिता और अपने देश से मोहब्बत करें, नमाज़ की पाबन्दी करें:-सैय्यद फुरक़ान मियां सज्जादानशीन

    शरद कपूर 

    खैराबाद\सीतापुर। स्थानीय दरगाह हाफ़िज़िया अस्लमियाँ में चल रहे पांच दिवसीय उर्स के पांचवें और अंतिम  दिन बाद नमाज़ ज़ोहर हाफिज असलम मियां अलैहिर्रहमा के 123 वें क़ुल शरीफ की महफ़िल का आयोजन किया गया जिसमे सभी धर्म व सम्प्रदाय के लोगों ने शिरकत करके अपनी श्रद्धा सुमन अर्पित किया तथा क़स्बा व बाहर से कव्वालों ने सूफियाना कलाम पेश किया जिसमें दरगाह की सरकारी चौकी अर्थात दरगाह के पुश्तैनी मीर क़व्वाल गुफरान अहमद और उनके साथियों ने अच्छा कलाम पढ़ा जबकि दरगाह पर महफिले समां में कव्वालों में फ़रीद खैराबादी,अनस फिरोजाबादी ने अच्छा सूफियाना कलाम पेश किया।

    इस अवसर पर उर्स हाफिज़ी उर्स के संरक्षक सज्जादानशीन सैय्यद गयास मियां,बड़े मखदूम साहब के सज्जादानशीन शोएब मियां,दरगाह हज़रत छोटे मख़दूम साहब के सैय्यद अज़ीज़ुल हसन रिज़वी मदनी मियां, इलाहाबाद दरगाह क़लन्दरिया के सैय्यद नसर मियां, दरगाह समदिया फफूँद शरीफ के सज्जादानशीन मौलाना हाजी सैय्यद अख्तर मियां चिश्ती, सैय्यद ख़ुर्शीद अहमद किरमानी, सैय्यद डॉक्टर रेहान रिज़वी, दरगाह हाफिज मुन्ना शाह के सज्जादानशीन एजाज़ हसन खान, हैदराबाद के सैय्यद वजाहत हमीद चिश्ती,दरगाह हक़ हू शाह के शेख इशरत अली चिश्ती, इश्तियाक वारसी,हाजी सय्यद एहतेराम रिज़वी,इलाहाबाद के सैय्यद मारूफ अहमद, क़ारी इस्लाम अहमद आरफ़ी सय्यद फरजान मियां,सैय्यद सलमी मियां,सैय्यद फरहान मियां, सैय्यद फ़रमान मियां,क़ारी फैय्याज,इमरान किरमानी,इमरान सिद्दीकी, इस्लाम अहमद,पप्पू,गुड्डू, अवसाफ़ अहमद सलीम खान दानियाल आरफी,सैय्यद फैजान मियां,सैय्यद तय्यब रिज़वी,हमज़ा सिद्दीकी, सिराजुल हसन,शाहिद अली ,अतीक अंसारी आदि मौजूद रहे।इस अवसर पर सज्जादानशीन हाजी सैय्यद फुरक़ान मियां ने कहा कि हमे अपने रख रखाव अपने आचरण को सही बनाना चाहिए और अपने मुल्क व अपने पड़ोसियों से मोहब्बत हमदर्दी रखना चाहिए ,नमाज़ की पाबन्दी करना फ़र्ज़ है साथ ही ये भी कहा कि अपने माता पिता के साथ हमे अच्छा व्यवहार करना चाहिए अन्यथा सब बेकार है । हमे अल्लाह और उसके रसूल सल० से सच्ची मोहब्बत करनी चाहिए और औलिया अल्लाह की तालीमात पर पूरा ध्यान देना होगा अगर हमने नमाज़ छोड़ दी माँ बाप का खयाल न रखा तो न उर्स में।आना काम आएगा और न क़व्वाली सुनना काम आएगा इस लिए अगर कुछ पाना चाहते हैं तो पहले अल्लाह की रज़ा के लिए काम करें इन सब कार्यक्रम में पूरा सहयोग करने वालो में हाफिज आरिफ, हाफिज़ नईम,हाफिज नसीर, हाफिज व मौलाना सैय्यद अज़हर मियां चिश्ती, मौलाना ग़ुलाम हाफ़िज़ मियां ,सैय्यद ग़ज़ाली मियां,फफूँद शऱीफ,हाफिज जादाब, हाफ़िज़ व क़ारी फैय्याज ने पूरा सहयोग किया।

    उर्स में बड़ौदा गुजरात ,हैदराबाद, दिल्ली, के अलावा कई प्रांतो से तथा उत्तर प्रदेश के तमाम जनपदो से लोगों ने आकर श्रद्धा सुमन अर्पित किया ।उर्स के समापन पर सज्जादानशीन ने सभी का शुक्रिया अदा किया तथा मतवल्ली सैय्यद इरफान वहीद हाशमी ने नगर की जनता,पुलिस प्रशासन,नगर पालिका प्रशासन, तथा विशेष रूप से मीडिया सभी अखबारों के संपादकों, संवाददाताओं का आभार व्यक्त किया कि अपनी लेखनी से पूरे उत्तर प्रदेश में उर्स को और खैराबाद के नाम को उजागर किया।


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.