Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहांपुर। राम प्रसाद बिस्मिल युवाओं के प्रेरणा स्रोत

    शाहजहांपुर। जनपद के अमर शहीद पंडित राम प्रसाद बिस्मिल की 125 वीं जयंती के अवसर पर स्वामी शुकदेवानंद महाविद्यालय में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया । प्रातः काल वाणिज्य विभाग ने रोटरी क्लब शाहजहांपुर के साथ मिलकर  पंडित राम प्रसाद बिस्मिल की स्मृति में 5 पौधों का रोपण किया गया। इस अवसर पर अलीगढ़ से पधारे रोटरी क्लब के मंडलाध्यक्ष मुकेश सिंघल मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित रहे। 

    रोटरी क्लब शाहजहांपुर के अध्यक्ष डॉ गौरव कौशल , समीर सक्सेना, जय अग्रवाल, अजय शर्मा, प्रदीप बेदार आदि  रोटेरियन की उपस्थित में प्राचार्य डॉ अनुराग अग्रवाल ने पुष्पगुच्छ देकर मंडलाध्यक्ष स्वागत किया। इस अवसर पर बोलते हुए मंडलाध्यक्ष ने कहा कि पांच पौधे लगाकर हम पांचों कर्मेंद्रियों से बिस्मिल जी को नमन करते हैं। वह देश के युवा वर्ग के प्रेरणा स्रोत हैं। युवाओं को उनसे प्रेरणा लेकर लिखने की ताकत से लेकर बाजुओं की ताकत तक विकसित करना चाहिए और उसका प्रयोग राष्ट्रहित में तथा समाज कल्याण के कार्यों में करना चाहिए । पौधारोपण के उपरांत महाविद्यालय के सभी विभागों में बिस्मिल जी पर अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किये गए  जिसमें शिक्षकों ने तथा छात्र छात्राओं ने भाग लिया।  कॉमर्स विभाग में बिस्मिल जी के चित्र पर पुष्पांजलि करने के उपरांत विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया।  

    अतिथि वक्ता  जी एल कनौजिया स्कूल की शिक्षिका भावना शर्मा ने अपने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि बिस्मिल जी को अपनी विलक्षण प्रतिभा के बल पर  पंडित जी की उपाधि प्राप्त हुई थी। अतिथि वक्ता गुरु तेग बहादुर स्कूल बंडा की शिक्षिका स्मिता रस्तोगी ने कहा कि बिस्मिल जी ने अपने ज्ञान को व्यवहार में उतारा और अपना जीवन देश के लिये न्यौछावर कर दिया। गोष्ठी में डॉ गौरव सक्सेना, डॉ अजय वर्मा, डॉ विजय तिवारी, डॉ संतोष प्रताप सिंह, ब्रज लाली ,प्रतिक्षा मिश्रा और तृप्ति अरोरा ने भी अपने विचार रखे । व्यवसाय प्रशासन विभाग में वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसका विषय था,"विकास के लिए अँग्रेजियत से मुक्ति आवश्यक है" 15 छात्र -छात्राओं ने विषय के पक्ष और विपक्ष में विचार रखे।  विषय के पक्ष में विचार रखने वाले विद्यार्थी अधिक थे। जिनमें  स्वेच्छा को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। सुमित सक्सेना के संचालन में हुए कार्यक्रम में अंकित अवस्थी, अभिजीत मिश्रा ,नेहा सिंह ,महिमा सिंह आदि ने भी अपने विचार प्रस्तुत किए। डीएलएड विभाग द्वारा पंडित राम प्रसाद बिस्मिल के विचारों पर परिचर्चा आयोजित की गई जिसमें बोलते हुए विभाग अध्यक्ष डॉ मनोज मिश्रा ने कहा कि हमें बिस्मिल जी के विचारों पर चलते हुए उन्हें सदैव जीवित रखना चाहिए। परिचर्चा में अमिता रस्तोगी, शिवानी भारद्वाज, नीरज गुप्ता, रचना रस्तोगी ,प्रतिभा द्विवेदी, गौरव शर्मा ,अभिषेक बाजपेई ,शैलेंद्र द्विवेदी ,सर्वोत्तम शर्मा और धर्मेंद्र ने भी भाग लिया। 

    महाविद्यालय की कला संकाय में डॉक्टर आलोक मिश्रा के निर्देशन में पंडित राम प्रसाद बिस्मिल के व्यक्तित्व और कृतित्व  पर प्रकाश डाला गया जिसमें डॉ अर्चना गर्ग, डॉ काविता भटनागर ,डॉप्रतिभा सक्सेना, डॉ दीपक सिंह,डॉ राम शंकर पांडे, अमिता रस्तोगी, शीतू  शुक्ला, व्याख्या सक्सेना ,दीपक दीक्षित, संजय कुमार और आदर्श शुक्ला ने अपने विचार प्रस्तुत किए । विज्ञान संकाय द्वारा राम प्रसाद बिस्मिल जी पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया डॉ आलोक कुमार सिंह,डॉ आदर्श पांडे और डॉ रमेश चंद्र ने निर्णायक मंडल की भूमिका का निर्वहन करते हुए बताया कि सोमवार को प्रतियोगिता के परिणाम घोषित किए जाएंगे।

    फ़ैयाज़ उद्दीन 

    Initiate News Agency (INA) , शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.