Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    श्रावस्ती। जिलाधिकारी ने मेधावियों का किया सम्मान।

    ........... दृढ़ इच्छा शक्ति एवं कड़ी मेहनत से हासिल होता है मुकाम-जिलाधिकारी।

    सर्वजीत सिंह\श्रावस्ती। सोमवार को यू0पी0 बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण हुए जनपद के मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान समारोह कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित किया गया। इस सम्मान समारोह में हाईस्कूल के 04 और इंटरमीडिएट के 02 छात्र-छात्राओं को परीक्षाओं में प्रथम स्थान पाने पर जिलाधिकारी नेहा प्रकाश ने प्रशंसा पत्र एवं सामान्य ज्ञान की पुस्तक भेंटकर सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि हाईस्कूल परीक्षा में नेहरू स्मारक इण्टर कालेज गिलौला से प्रज्ञा को 92.67 प्रतिशत, श्रीकृष्णा आदर्श इण्टर कालेज हरदत्त नगर गिरण्ट से शिवकुमार यादव को 91.17 प्रतिशत, नेहरू स्मारक इण्टर कालेज गिलौला से कामिनी मिश्रा को 90.17 प्रतिशत एवं एस0पी0के0 शुक्ला इण्टर कालेज गिलौला से वर्तिका पाण्डेय को 90.17 प्रतिशत अंक पाये जाने पर सम्मानित किया गया। वहीं इण्टरमीडिएट की परीक्षा में जगतजीत इण्टर कालेज इकौना की छात्रा आयुषी मिश्रा 86.20 प्रतिशत एवं आस्था मिश्रा को 86 प्रतिशत अंक पाये जाने पर सम्मानित किया गया। 

    इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि मेहनत से बढ़कर सफलता का कोई सूत्र नहीं है। उन्होने कहा कि दृढ़ इच्छा शक्ति एवं कड़ी मेहनत से ही मुकाम हासिल होता है। ज्ञानवान होने के साथ संस्कार वान होना भी आवश्यक है। उन्होंने सभी मेधावियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए उनके कठिन परिश्रम की सराहना भी की। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि आत्मविश्वास ही इंसान की वह शक्ति है, जिससे हर असंभव कार्य को संभव बनाया जा सकता है। इसलिए हमेशा अपने लक्ष्य को लेकर सकारात्मक रहें और अपनी तैयारी में कोई कमी ना छोड़ें। इसलिए इन बातों को ध्यान में लेकर चलें और अपने अंदर अपने लक्ष्य के प्रति सकारात्मक विचारों को बनाए रखकर तैयारी करें, तो निश्चित ही उन्हें लक्ष्य की प्राप्ति होगी। उन्होने यह भी कहा कि जिले के छात्र-छात्राओं ने परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करके बेहतर अंक प्राप्त किया है, जो गौरव की बात है। उन्होने यह भी कहा कि जिले के ऐसे छात्र-छात्राएं जो परीक्षा में बेहतर स्थान नही मिल पाया है, वे निराश न हो। वे कड़ी मेहनत कर अपने भविष्य को उज्जवल बनायें। उन्होने छात्र-छात्राओं को आश्वस्त करते हुए कहा कि यदि भविष्य में उन्हें शिक्षा के सम्बन्ध में कोई कठिनाई आती है तो बेझिझक बतायें, निश्चित ही उनकी मदद की जायेगी।  

    इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुभव सिंह ने कहा कि आज तमाम छात्र-छात्राओं द्वारा बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी की जाती है। लेकिन उनके द्वारा अभिरूचि लेकर आन्तरिक रूप से परीक्षा के तैयारी न करने के कारण मुकाम हासिल नहीं हो पाता है। असफल होने वाले छात्रों में ज्यादातर संख्या इन्हीं की होती है। आजकल प्रायः यह देखने को मिल रहा है कि कुछ बच्चे ऑनलाइन पढ़ाई के बहाने इन सुविधाओं का गलत प्रयोग कर रहें, जो चिन्ता का विषय है। इसलिए लक्ष्य बनाकर मन से पढाई की जाए तो निश्चित ही उन्हें सफलता मिलेगी और जिले का नाम रोशन होगा। इस दौरान अपर जिलाधिकारी कमलेश चन्द्र ने बोर्ड की परीक्षाओं में उत्तीण मेधावियों को सम्मानित करके उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। उन्होने कहा कि कक्षा 09 से कक्षा 12 के बीच का विद्यार्थी काल ही मनुष्य के भविष्य को निर्धारित करता है। इस अवधि में यदि छात्र-छात्राएं अपनी बेहतर ढंग से पढ़ाई करें तो वह जीवन में एक अच्छे नागरिक बनेंगे और राष्ट्र की सेवा में सदैव समर्पित रहेंगे। 

    इस अवसर पर जिला विद्यालय निरीक्षक सन्त प्रकाश, प्राचार्य नेहरू स्मारक इण्टर  कालेज गिलौला प्रदीप श्रीवास्तव सहित सम्बन्धित विद्यालयों के प्राचार्य एवं गुरूजन उपस्थित रहे।

    Initiate News Agency (INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.