Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बलिया। जिलाधिकारी ने उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं और बालिकाओं को किया सम्मानित।

    .......... कहा, यह महिलाएं अन्य महिलाओं के लिए होंगी प्रेरणा का स्रोत

    सैय्यद आसिफ़ हुसैन जै़दी/बलिया। मिशन शक्ति 4.0 के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से शुरुआत किए गए अनंता कार्यक्रम का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में गुरुवार को हुआ। इसमें जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने विज्ञान, कला, खेल व अन्य विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर कार्य करने वाली महिलाओं व बालिकाओं को सम्मानित किया।

    जिलाधिकारी ने कहा कि अलग-अलग क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाएं समाज के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं। उनसे अन्य महिलाओं को भी सीख मिलेगी और वह भी कुरीतियों से लड़ेंगी और बेहतर कार्य करने के प्रति प्रेरित होंगी। उन्होंने ग्रामीण परिवेश में रहने वाली महिलाओं में जागरूकता लाने पर विशेष बल दिया। इस पहल में बैंक सखी, विद्युत सखी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, स्वयं सहायता समूह की महिलाएं सबसे अधिक सकारात्मक भूमिका में हो सकती हैं। जब एक महिला शिक्षित होती है तो दो परिवार शिक्षित होता है। इसलिए बेटियों की शिक्षा व सुरक्षा को लेकर सरकार भी प्रतिबद्ध है। 

    • कोरोना काल में माता-पिता खोए बच्चों को दिया लैपटॉप

    कोरोना काल के दौरान जिन बच्चों के माता-पिता की मृत्यु हो चुकी है, उन बच्चों को आगे की बेहतर शिक्षा के लिए जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने लैपटॉप वितरित किया। उन्होंने बच्चों को बेहतर शिक्षा के लिए प्रेरित करते हुए उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दीं। उन्होंने प्रोबेशन अधिकारी को निर्देश दिया कि इन बच्चों को सरकार की ओर से जो भी सुविधाएं मिल रही है सुगम तरीके से उपलब्ध कराई जाए। अगर कहीं भी कोई लापरवाही की शिकायत मिली तो क्षम्य नहीं होगा। बैठक में सीडीओ प्रवीण वर्मा, डीआईओएस राजेश सिंह, विद्यालयों के प्रबंधक/प्रधानाचार्य व महिला कल्याण विभाग के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

    • जिलाधिकारी प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने की दिलाई शपथ
    जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने की शपथ दिलाई। शपथ दिलाने के बाद उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार देश को प्लास्टिक मुक्त करने को लेकर कटिबद्ध है। उन्होंने जनपद वासियों से भी अपील की है कि प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करें। यह वातावरण के साथ-साथ मानव जीवन के लिए भी काफी नुकसानदायक है। उन्होंने बलिया में प्लास्टिक बैंक की स्थापना करने पर भी बल दिया, ताकि उस प्लास्टिक को रिसाइकिल करके अन्य सामग्री बनाई जा सके। उन्होंने 'प्लास्टिक वेस्ट टू आर्ट' का भी कंसेप्ट दिया।


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.