Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहांपुर। विवादित पुस्तक पर रोक लगाये जाने को लेकर वीएचपी ने एसपी को दिया ज्ञापन।

    फै़याज़ उद्दीन/शाहजहांपुर। रामायण डीक्लासिफाइड पुस्तक का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। पुस्तक के विमोचन के बाद अब ये पुस्तक विवादों में आ गई है। सोशल मीडिया पर भी तमाम यूजर्स इस विवादित पुस्तक का विरोध कर रहे हैं और इस किताब के लेखक के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग कर रहे हैं। इस मामले में आज विश्व हिन्दू परिषद के सदस्यों ने इस विवादित पुस्तक का विरोध करते हुए  इस पुस्तक के लेखक जसमीत साहनी के खिलाफ एसपी आफिस पहुंच कर पुलिस को ज्ञापन दिया।  

    हिंदू संगठन के लोगों का आरोप है कि इस विवादित पुस्तक के लेखक जसमीत साहनी ने हिंदूओं के पवित्र ग्रंथ रामायण को अपनी पुस्तक में तोड़ मरोड़ कर पेश किया है। जिसके चलते हिन्दूओं की भावनाएं आहत हो रही है। आक्रोशित हिंदू संगठन ने इस विवादित पुस्तक के लेखक के खिलाफ पुलिस से कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है और इस पुस्तक के प्रकाशन और बिक्री पर रोन्क लगाने की भी मांग की है। वहीं पुलिस अब इस पूरे मामले की जांच की बात कह रही है। पूरा मामला शाहजहांपुर का है। यहां के रहने बाले जसमीत साहनी ने रामायण डीक्लासिफाईड नाम की एक किताब लिखी जिसका विमोचन अभी तीन दिन पहले ही एक होटल में हुआ था। किताब का विमोचन होते ही ये किताब विवादों से घिर गई । जिसके बाद इस किताब के लेखक ने इस पुस्तक के प्रकाशन और बिक्री पर रोक लगा दी है। विमोचन के बाद जब हिंदू संगठनों ने इस पुस्तक को पढ़ा तो इस पुस्तक में उन्हें रामायण से संबंधित कई उल्लेख तोड़ मरोड़ कर पेश करे हुए दिखाई दिये। इसी बात को लेकर हिंदू संगठन ने आक्रोशित होकर आज एसपी कार्यालय में पहुंचकर एसपी को इस विवादित पुस्तक के लेखक जसमीत साहनी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग की है। पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया है कि इस पुस्तक के लेखक जसवीर साहनी ने अपनी पुस्तक रामायण डीक्सिफाइड में कई तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर पेश किया है जिससे हिन्दुओं की भावनाएं आहत हुई हैं। ऐसे में ना केवल इस पुस्तक पर रोक लगाई जाए बल्कि इसके लेखक के खिलाफ भी कानूनी कार्यवाही की जाए। इस मामले में पुलिस अधीक्षक ने जांच के निर्देश दिए हैं।


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.