Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद। संपूर्ण समाधान दिवस में पहुंचीं 55 शिकायतें, छह का ही निस्तारण।

    देवबंद। संपूर्ण समाधान दिवस में पहुंचे डीएम अखिलेश सिंह व एसएसपी आकाश तोमर के समक्ष 55 शिकायतें पहुंचीं। जिनमें महज छह शिकायतों का ही निस्तारण हो सका। इस दौरान उच्चाधिकारियों ने अधिनस्थों को शिकायतों के त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए।

    समाधान दिवस में शिकायते सुनते अधिकारीगण

    शनिवार को ब्लाक कार्यालय पर आयोजित हुए संपूर्ण समाधान दिवस में सबसे अधिक 18 शिकायतें राजस्व विभाग से संबंधित पहुंची। जबकि विद्युत निगम, नगर पालिका परिषद, सिंचाई,चकबंदी विभाग, खाद्य एवं विकास विभाग, वन विभाग व पुलिस महकमे से संबंधित शिकायतें लेकर फरियादी अधिकारियों के समक्ष पहुंचे। इसमें केवल छह शिकायतों का ही निस्तारण किया जा सका। डीएम अखिलेश सिंह ने कहा कि शिकायतों का निस्तारण समयबद्ध एवं उनकी गुणवत्ता के अनुसार करें। चेतावनी दी यदि इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बरती जाती है तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 

    डीएम ने 21 जून को होने वाले अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के लिए सामूहिक रुप से लोगों को जागरुक करने के साथ साथ हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत लोगों में राष्ट्रीय भावना जागृत कर आजादी की 75वीं वर्षगांठ होने पर अमृत महोत्सव कार्यक्रम को जन-जन तक पंहुचाने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया। इसमें सीडीओ विजय कुमार, सीएमओ डा. संजीव मांगलिक, परियोजना निदेशक देवेंद्र प्रताप, एसडीएम दीपक कुमार, तहसीलदार तपन मिश्रा समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

    समाधान दिवस में जिलाधिकारी को पत्र देकर बंदरों को पकडने की मांग

    ग्राम भायला के किसान बंदरों की बढ़ती तादाद वह उत्पात से परेशान हैं’ बंदरों के आतंक से परेशान किसानों ने समाधान दिवस में जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर बंदरों के पकड़े जाने की मांग है’ किसानों का आरोप है कि बंदरों द्वारा न केवल लोगों पर हमला कर उनको घायल किया जा रहा है बल्कि आम व गन्ने की फसल  को नुकसान पहुंचाया जा रहा है’ किसानों ने बंदरों को पकड़कर किसी पहाड़ी स्थान पर छुड़वाने की मांग की है’गांव भायला के धान सिंह, सतीश कुमार, राकेश, मनोज महावीर, आदि किसानों ने देवबंद में शनिवार को समाधान दिवस में जिलाधिकारी अखिलेश सिंह, एसएसपी आकाश तोमर के समक्ष अपनी समस्या रखते हुए बताया कि भायला क्षेत्र में बंदरों ने इंसानी जीवन दूभर कर रखा है। इन बंदरों से ना केवल फसलों को नुकसान पहुंच रहा है बल्कि बंदर लोगों पर हमला कर घायल कर रहे हैं बंदरों के कारण किसानों को आर्थिक नुकसान पहुंच रहा है। अधिकारियों ने किसानों को  उनकी समस्या का जल्द समाधान करने का आश्वासन दिया है।

    शिबली इकबाल

    Initiate News Agency (INA), देवबंद

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.