Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। आशा ज्योति केन्द्र में महिला द्वारा फांसी लगाने की जांच उच्चस्तरीय कराये जाने की मांग।

    कानपुर। मुस्लिम डेमोक्रेटिक फ्रन्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष शाकिर अली उस्मानी आशा ज्योति केन्द्र में महिला द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या किये जाने की खबर पर चिन्ता प्रकट करते हुये कहा है कि पुलिस द्वारा आशा ज्योति केन्द्र में पिटाई करने के बाद जबरदस्ती केन्द्र मे छोड़े जाने के बाद महिला द्वारा आत्महत्या किया जाना चिन्ता का विषय है। आशा ज्योति केन्द्र में पर्याप्त स्टाफ होने के बाद भी महिला द्वारा आत्महत्या किया जाना इस बात को उजागर करता है कि आशा ज्योति केन्द्र में अनियमिततायें होती रहती है। 

    जिला प्रोवेशन अधिकारी से सांठ-गांठ होने के कारण कोई ठोस कार्यवाही भी नहीं हो पाती है।उस्मानी से उ0प्र0 के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ से मांग की है कि आशा ज्योति केन्द्र स्वरूप नगर में पिछले पांच वर्षों में जो बजट आवण किया गया है उसकी भी जांच होनी चाहिए कि इस लाभ लाभार्थियों को मिला कि नहीं? महिला द्वारा फांसी लगाये जाने की जांच निष्पक्ष तरीके से होनी चाहिए जिससे दोषियों को सजा मिल सके। पुलिस विभाग की भूमिका लगातार संदिग्ध बड़ी है, जिसके चलते पुलिस का नकारात्मक रवैया जनता के बीच में उजागर हुआ है इसकी भी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए जिससे दोषी पुलिस को दण्ड मिल सके। यदि एक सप्ताह के अन्दर उच्च स्तरीय जांच कराकर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही न हुई तो कांग्रेस रामआसरे पार्क में मुस्लिम डेमोक्रेटिक फ्रन्ट के तत्वाधान में धरना देने को बाध्य होंगे।

    इब्ने हसन ज़ैदी

    Initiate News Agency (INA) , कानपुर


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.