Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहाँपुर। जनता ऑटो रिक्शा चालक वेलफेयर एसोसिएशन की मांग, डीएम ले अपना आदेश वापस।

    ............. दुकानदारों ने कर रखा सड़क पर अतिक्रमण रिक्शा बालों को दिया जाता दोष : महफूज अली

    शाहजहाँपुर। जनता ऑटो रिक्शा चालक वेलफेयर एसोसिएशन ने वविभिन्न मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन करते हुए सीओ सिटी को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष महफूज अली खां ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा जनपद शाहजहांपुर के जिला अधिकारी ने तानाशाह रवैया अपनाते हुए ई-रिक्शा पर स्कूली बच्चों को ना ले जाने का आदेश जारी किया है। जबकि आस पास के जिलों में बच्चों के लिए कोई भी रिक्शा बंद नहीं है। जिस कारण रिक्शे वाले बहुत ज्यादा परेशान है स्कूल में रिक्शा बंद हो जाने से भुखमरी की कगार पर आ गए हैं। जिलाधिकारी कहते हैं कि ई रिक्शे पर बच्चे सुरक्षित नहीं है जबकि ई रिक्शा से स्कूली बच्चों को ले जाते हुए महीने का 500 लिया जाता है एवं मारुति वैन चालक 1500 रुपए प्रति बच्चा लेते है। 

    नगर निगम में रिक्शा के लिए कोई भी स्टैंडर्ड नहीं है। जबकि नगर पालिका द्वारा 17 रिक्शा स्टैंड स्वीकृत है। जिस पर गुंडे मवालियों ने कब्जा कर रखा है। उनको खाली कराकर रिक्शा खड़ा होने की व्यवस्था की जाए। शहर में जाम का कारण दुकानदारों का रखा हुआ सामान अपनी-अपनी दुकानों के आगे सामान रखकर सड़क पर अतिक्रमण किया जाता है उसको तत्काल खाली कराया जाए। जिला प्रशासन ने ई-रिक्शा के लिए मुख्य मार्ग बंद कर रखे हैं जिससे 500 मीटर की रास्ता 5 किलोमीटर में तब्दील हो जाती है। 

    जिस कारण ई रिक्शा चालक बहुत दुखी है। प्रशासन के मुख्य लोगों की मिलीभगत से रोडवेज पर ई रिक्शा चालकों से अवैध वसूली भी की जाती है। इस महंगाई के दौर में परिवार का पालन पोषण कर पाना मुश्किल अगर यही स्थिति बनी रही तो ई रिक्शा चालक आत्महत्या करने को मजबूर हो जाएंगे।

    फ़ैयाज़ उद्दीन 

    Initiate News Agency (INA) , शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.