Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बलिया। पत्रकारों के संघर्ष को मिली जीत।

    ............. तीनो बहादुर पत्रकार जेल से  बाहर आने के बाद अपनों के बीच अपने आप को पाकर कर माहौल हुआ भावुक।

    ........... आजमगढ़ से लेकर बागी धरती पर जोरदार स्वागत

    बलिया। इंटरमीडिएट अंग्रेजी के पेपर लीक मामले में गिरफ्तार बलिया जिले के तीनों पत्रकार कोर्ट से जमानत पाकर आजमगढ़ जेल से बाहर आ गये है। जेल गए अपने साथियों को अपने बीच पाकर पत्रकारों ने न सिर्फ उन्हें गले लगाया, फूल-मालाओं से लाद दिया। इस दौरान तीनों पत्रकारों को सीने से भी लगा लिया। इस दौरान यहां का माहौल काफी भावुक हो उठा। फिजा में एक ही नारा गूंजता रहा पत्रकार एकता जिन्दाबाद। 

    बता दें कि यूपी बोर्ड परीक्षा के इंटरमीडिएट के पेपर लीक होने के मामले में निर्दोष पत्रकार अजीत ओझा, दिग्विजय सिंह व मनोज गुप्ता को पुलिस ने बेवजह गिरफ्तार कर लिया था। उस समय इन पर गंभीर धाराएं थोपी गयी, जिसके खिलाफ न सिर्फ बलिया, बल्कि पूरे देश भर में विरोध का लावा फूट पड़ा हर तरफ सरकार व उसके तानाशाह अफसरों के लिए विरोध व निंदा प्रस्ताव शुरू हो गया। लेकिन सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगा। वह अपने भ्रष्टाचारी व नकल काण्ड से नाता रखने वाले अफसरों को बचाने के लिए तीन साथियों की गिरफ्तारी कर दिया। 

    जिससे नाराज बलिया के पत्रकार संयुक्त पत्रकार संघर्ष मोर्चा’ के बैनर तले लगातार आंदोलनरत है। आज उनके रिहाई के आजमगढ़ से बागी धरती पर पत्रकारों के साथ ही विभिन्न सामाजिक संगठनों के लोगों ने जोरदार स्वागत किया। उधर, कलेक्ट्रेट में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व विधायक ओमप्रकाश राजभर व सपा के फेफना विधायक संग्राम सिंह यादव ने पत्रकारों के आंदोलन का समर्थन किया। कहा कि सरकार पत्रकारों पर जुल्म की इंतहा ले रही। ऐसा प्रयोग करने वाले प्रशासन के अफसर कभी सफल नहीं रहे है।

    सैय्यद आसिफ़ हुसैन जै़दी

    Initiate News Agency (INA), बलिया

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.