Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बलिया। मैं उनमें से नहीं जो अमेरिकी कंपनी का पानी पीये और भारत मां कि जय बोले - संदीप पांडे (मैग्सेस अवार्ड धारक)

     ................... नकल एक गंभीर मुद्दा है इसमें नकल माफिया के साथ-साथ विद्यालय महाविद्यालय के प्रबंधक तंत्र सरकारी अधिकारी शामिल है।

    बलिया। बड़ी खबर बलिया से है, जहां पेपर लीक मामले में तीन पत्रकारों की गिरफ्तारी के विरोध में पत्रकारों के चल रहे धरने में शामिल होने आये, मैग्सेसे अवार्ड से सम्मानित संदीप पांडेय और पूर्व विधायक सुरेंद्र सिंह शामिल शामिल हुए।

    संदीप पांडे मैगसेसे अवॉर्ड विजेता

    संदीप पांडेय ने कहा कि यह बहुत ही गंभीर मुद्दा है। यह पूरे भारत का ना सही हो पूरे यूपी बिहार का तो है ही, नकल करके नौजवान युवक युवतियां पास हो जाए ,इसे किसी भी तरह अच्छा नहीं माना जा सकता है।  क्यों कि यह सम्पूर्ण देश के लिए शुभ संकेत नहीं है। यह ऐसी खेप तैयार हो रही है जो देश हीत में सही नहीं है। संदीप पांडेय ने कहा कि 30 साल से तो मैं जानता हूं यह उससे पुरानी समस्या है। पांडेय ने कहा कि तीन पत्रकार जो इस मुद्दे को उठाने में जेल गए हैं यह छोटी बात है छूट तो जाएंगे ही क्योंकि गलत तरीके से उन्हें जेल भेजा गया है। लेकिन सोचने वाली बात यह है कि इन तीनों बहादुर पत्रकारों ने ऐसी समस्या में हाथ डाल दिया है, यह आसान नहीं है।यह मधुमक्खी का छत्ता है यह इतना बड़ा रैकेट जो चल रहा है नकल माफिया तो शामिल है ही, इनके साथ-साथ विद्यालय, महाविद्यालय के प्रबंध तंत्र के लोग भी शामिल हैं। इसके अलावा जो लोग हैं इसमें सरकारी अधिकारी भी शामिल है ,यह पूरा एक बड़ा खेल है। जो देश में भ्रष्टाचार की जननी है,यही नहीं इसका मूल कारण यहां का चुनावी तंत्र है, जिसमें चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित सीमा से अधिक पैसा चाहिए बडे़-बडे़ राजनीतिक दलों को चुनाव लड़ने के लिए।

    बहुत गंभीर मामले में हाथ डाला है ,पत्रकार साथियों ने। इसलिए हम यहां आंदोलन कर रहे पत्रकारों के समर्थन में खड़े हैं। हम ही नहीं हर ईमानदार आदमी इस आंदोलन में पत्रकारों का समर्थन करेगा, जिसके मन में ज़रा सा भी वास्तविक देश प्रेम होगा वह जरूर चाहेगा, कि नकल करके विद्यार्थी पास ना हो नकल रुकनी चाहिए। हम उन लोगों की बात नहीं करते जो अमेरिकी कंपनी कोका कोला का पानी पीके भारत माता की जय के नारे लगाते हैं। यह नकल और भ्रष्टाचार से जुड़ा पूरा खेल है और और चुनावी राजनीति से जुड़ा हुआ भी  मामला है।  संदीप पांडेय ने कहा, हमें उम्मीद नहीं ,इतनी आसानी से यह खेल खत्म होने वाला नहीं है। नकल रुकनी चाहिए इसके लिए जो भी होगा, हम करेंगे चाहे इसके लिए यहां से लखनऊ तक की पदयात्रा करके सरकार को घेरना पढ़ेगा या अनिश्चितकालीन अनशन कर जन आंदोलन से जुड़ ना पड़े, निर्दोष पत्रकारों को छुड़ाने के साथ-साथ नकल  माफियाओं के रैकेट को पूरे तरीके समाप्त होना चाहिए।

    सैय्यद आसिफ़ हुसैन जै़दी

    Initiate News Agency (INA), बलिया 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.