Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद। मनसे प्रमुख के मस्जिदों से लाऊडस्पीकर उतारने के बयान पर उलमा ने दी प्रतिक्रिया

     ............. दफन हुई राज ठाकरे की राजनीति, उभरने को खेल रहे हिंदू-मुस्लिम कार्डः उलमा

    देवबंद। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे के मस्जिदों से लाऊडस्पीकर उतारने तथा ऐसा न करने पर मस्जिदों के सामने हनुमान चालीसा का पाठ कराने वाले बयान पर उलमा ने सख्त नाराजगी जताई है। उलमा का कहना है कि अब इनकी राजनीति दफन हो चुकी है। खुद को उभारने को यह हिंदू मुस्लिम कार्ड खेल रहे हैं। केंद्र सरकार को इसका संज्ञान लेकर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। 

    इत्तेहाद उलमा-ए-हिंद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व मदरसा जामिया शेखुल हिंद के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती असद कासमी ने कहा कि हिंदुस्तान सेक्यूलर मुल्क है और इस मुल्क का संविधान यहां रहने वाले हर शख्स को अपने मजहब के ऊपर अमल करने की पूरी आजादी देता है। मनसे प्रमुख राज ठाकरे का बयान संविधान के खिलाफ है। मुसलमान अजान दे रहा है तो इसमें कोई एतराज नहीं होना चाहिए। तुम हनुमान चालीसा करो या कुछ भी करो हमे उससे कोई एतराज नहीं है। मुफ्ती असद ने कहा कि अब इनकी राजनीति दफन हो चुकी है। ये खुद को उभारने के लिए हिंदू मुस्लिम के मुद्दे पर राजनीति कर रहे हैं। हमेशा से इन्होंने यही किया है। केंद्र सरकार ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करे और उन्हें सलाखों के पीछे डालने का काम करे। तंजीम अबना-ए-दारुल उलूम के अध्यक्ष मुफ्ती याद इलाही कासमी का कहना है कि मुल्क में नफरत पैदा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। ताकि यहां की एकता और अखंडता को बचाया जा सके। केंद्र सरकार को मामले का संज्ञान लेना चाहिए। गौरतलब है कि राज ठाकरे ने महाराष्ट्र स्थित शिवाजी पार्क में एक रैली के दौरान मंच से कहा कि मस्जिदों में लाउडस्पीकर इतनी तेज आवाज मे हनुमान चालीसा  बजाए जाएगी। 

    शिबली इकबाल

    Initiate News Agency (INA), देवबंद


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.