Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद। देवबंद में मांस विक्रेताओं की हडताल, मांस विक्रेताओं की आड में राजनीति का खेल शूरू।

    ......... सोशल मीडिया पर छीडा वाक युद्ध

    देवबंद। मांस बेचने के नाम पर राजनीति का खेल शूरू हो गया है जिसके चलते दूसरे दिन भी नगर में मांस विक्रेताओं की हडताल जारी रही। इस खेल में सपा के पूर्व नेता पहले शामिल है और अब दुसरे नेता भी घुस गए है। दोनो तरफ से सोशल मिडिया पर वाक यूद्ध छिडा हुआ है। मांस विक्रेताओं ने पूर्व सपा नेता के खिलाफ कोतवाली में तहरीर दी है जिसमें मांस विक्रेताओं ने अवैघ उगाही और पैसे न देने पर मांस की दुकानो पर बुलडोजर चलाने की धमकी जैसे गम्भीर आरोप लगाये है।

    बंद पडी मांस विक्रेताओं की दुकाने

    देवबंद में लगभग 34 लाईसेंसी मांस विक्रेता है और इनको सहारनपुर फैक्ट्री से मांस खरीदकर देवबंद में बेचने की परमिशन है लेकिन अब लाईसेंसी मांस विक्रेता भी अपनी दुकाने बंद कर हडताल पर है। जिससे मांस के शौकिनो को दिक्कतों का सामना करना पड रहा है।

    सोमवार को दुसरे दिन भी मीट विक्रेताओं ने अपनी दुकानें बंद रखी कोतवाली में दी तहरीर में लाईसेंसी मीट विक्रेताओं का कहना है कि वह सरकार की सभी शर्तो को पूरा करते हे मीट बेंचकर अपने परिवार का पेट पाल रहे है। तहरीर में कहा गया कि उन्हे डरा धमका कर अवैध रूप से पैसो की मांग करने वाले आरोपी के खिलाफ जब तक पुलिस कार्यवाही नही करेगी तब तक वह अपनी दुकाने पूर्ण रूप से बंद रखते हुए हडताल पर रहेगें। तहरीर देने वालो में हाजी इमरान, खालिद, नसीम, अकरम, शमशेर, जाहिद, जीशान, कफील, मसरूर, मतीन, दिलशाद अकरम, शमशेर, नासिर आदि शामिल है। उधर, मांस विक्रेताओं के आक्रोश का शिकार हो रहे है पूर्व सपा नेता सिंकदर अली गौड ने कहा कि साजिश के तहत उनके खिलाफ सारा प्रोपगेंडा किया जा रहा है। सिंकदर अली का कहना है कि नगर में पिछले काफी दिनो से अवैध कटान जारी है जिस पर रोक लगनी चाहिए। 

    शिबली इकबाल

    Initiate News Agency (INA), देवबंद

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.