Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। भाजपा सरकार वादे अनुसार बिजली दरें कम करने का जवाब दे।

    कानपुर। समाजवादी व्यापार सभा कानपुर के पदाधिकारियों ने केसको मुख्यालय में प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री के नाम सम्बोधित ज्ञापन दिया और मांग रखी की विद्युत नियामक आयोग द्वारा टैरिफ प्रस्ताव मांगने के जवाब में योगी सरकार चुनाव पूर्व वादे अनुसार स्लैबवार टैरिफ कम करने के लिए लिखे और स्पष्ट कर दे की यूपी में बिजली की दरें बढ़ेंगी नहीं बल्कि उनके स्वयं के जनवरी 2022 के वादे अनुसार घटेंगी।

    सपा व्यापार सभा के प्रदेश महासचिव अभिमन्यु गुप्ता के नेतृत्व में एकत्रित व्यापारियों ने नारेबाजी करते हुए सरकार को घेरा।प्रदेश महासचिव अभिमन्यु गुप्ता ने जानकारी दी की विधानसभा चुनाव से ठीक पहले तत्कालीन ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने घोषणा करी थी की शहरी मीटर्ड कनेक्शन में बिजली दर 6 रुपये प्रति यूनिट से घटकर 3 रुपये प्रति यूनिट व फिक्स चार्ज 130 रुपये प्रति हॉर्स पॉवर से घटकर 65 रुपये होगा।ऐसी कई घोषणाएं हुईं थी।पर हैरानी की बात है की चुनाव के बाद अचानक दरें कम करने की जगह विद्युत नियामक आयोग ने स्लैबवार टैरिफ प्रस्ताव मांगकर सरकार की नीयत उजागर कर दी जिसके तहत वादा खिलाफी करते हुए योगी सरकार बिजली की दरें घटाने की जगह बढ़ाने की कार्यवाही को औपचारिक सजावट दे रही है।ग्रामीण अध्यक्ष विनय कुमार ने कगा की वादे को भी छोड़ा जाए तो चुनाव के बाद बिजली की दरें बढ़ाने की हर कार्यवाही पहले से ही महँगाई और मंदी से परेशान छोटे मध्यमवर्गीय व्यापारी व आम नागरिक के लिए बहुत बड़ा आघात है।कानपुर महानगर अध्यक्ष मनोज चौरसिया ने कहा की पहले ही प्रदेश की बिजली दरें देश के अन्य राज्यों की तुलना में बहुत बढ़ी हुई हैं।विद्युत नियामक आयोग ने बिजली कंपनियों द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए दाखिल 85,500 करोड़ रुपये एआरआर प्रस्ताव का अध्ययन कर स्लैबवार टैरिफ प्रस्ताव मांगा है।जवाब 10 दिन में देने का निर्देश दिया गया है।यह इस बात का अप्रत्यक्ष संदेश है की इस कार्यवाही के द्वारा बिजली की दरें बढ़ाने का काम भाजपा सरकार द्वारा किया जाएगा। 

    प्रदर्शन व ज्ञापन के माध्यम से समाजवादी व्यापार सभा ने मांग रखी की योगी सरकार अभी से स्पष्ट रूप से विद्युत नियामक आयोग द्वारा मांगे गए प्रस्ताव के जवाब में स्पष्ट कर दे की किसी तरह की दर बढ़ौतरी नहीं होगी और उल्टा दरें कम की जाएंगी।अगर भाजपा की सरकार जनता से ज़रा भी ईमानदार है तो चुनाव पूर्व वादे अनुसार और मौजूदा महँगाई व समस्याओं को देखते हुए बिजली की दरें कम करने की कार्यवाही करे। अगर बिजली की दरें बधाई जाती हैं तो समाजवादी व्यापार सभा इसका पुरजोर विरोध करेगी और सड़क पर उतर कर आंदोलन करेगी।प्रदेश महासचिव अभिमन्यु गुप्ता, विनय कुमार,मनोज चौरसिया,महेश गुप्ता, प्रदीप तिवारी,शेषनाथ यादव,आज़ाद खान,अमित चढ्ढा,श्याम जी शर्मा,रियाज़ अहमद राजू,दीपू श्रीवास्तव,रविन्द्र रक्सेल,जय गुप्ता,राम यादव गुड्डू,सोनू वर्मा,साक़िफ़ कुरेशी,छोटे अली आदि थे।

    इब्ने हसन ज़ैदी

    Initiate News Agency (INA) , कानपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.