Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहांपुर। साइबर सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

    शाहजहांपुर। स्वामी शुकदेवानंद महाविद्यालय शाहजहांपुर के साइबर सेल, महिला प्रकोष्ठ एवं आंतरिक शिकायत समिति के संयुक्त तत्वाधान में दिनांक 30 मार्च को साइबर सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन एवं सरस्वती वंदना से हुआ। संगीत विभाग की छात्राओं के द्वारा अतिथियों का चंदन तिलक एवं पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया गया। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ अनुराग अग्रवाल ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि आज तकनीकी का युग है किंतु दुर्भाग्य यह है कि तकनीकी के दुरुपयोग में वृद्धि हुई है। 

    हम सबको इसके प्रति जागरूक रहना होगा। साइबर सेल प्रभारी डॉ संदीप अवस्थी ने विषय स्थापना करते हुए कहा कि साइबर अपराध ऐसा अपराध है जिसमें अपराधी की जानकारी ही नहीं होती है । ऐसी स्थिति समाज के लिए बहुत घातक सिद्ध हो सकती है । आंतरिक शिकायत समिति की प्रभारी डॉ मीना शर्मा ने कहा कि यदि किसी के साथ साइबर क्राइम होता है, तो उसे अविलंब अपनी शिकायत दर्ज करानी चाहिये। इस हेतु ऑनलाइन पोर्टल उपलब्ध है। महिला प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ पूनम ने कहा कि साइबर क्राइम का सबसे अधिक दुष्प्रभाव महिलाओं पर पड़ता है। इसके लिए हमें सजग रहने की आवश्यकता है। 

    इंडियन बैंक शाखा मढ़ा, के शाखा प्रबंधक अभिनव निगम ने बैंकिंग से संबंधित फ्रॉड एवं बैंकिंग सिक्योरिटी को लेकर चर्चा करते हुए कहा कि खतरा हर क्षेत्र में है किंतु यदि नियमों का पालन किया जाए तो खतरे की संभावना कम हो जाती है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि शाहजहांपुर साइबर सेल प्रभारी नीरज सिंह ने कहा कि सबसे बड़ा रिसोर्स डाटा है, जिसकी सुरक्षा अति महत्वपूर्ण है। उन्होंने साइबर अपराध को परिभाषित किया एवं कहा कि हमें लालचवश किसी भी अनधिकृत वेबसाइट अथवा लिंक को बिना विचार किए नहीं खोलना चाहिए। अपना पासवर्ड सुरक्षित रखते हुए हमें व्यक्तिगत जानकारी किसी के साथ शेयर नहीं करनी चाहिए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सहायक पुलिस अधीक्षक शाहजहांपुर सरवनन टी. ने कहा कि साइबर अपराध एक गंभीर व ज्वलंत विषय है। उन्होंने फेक मैसेज को पहचानने के तरीकों से अवगत कराते हुए कहा कि हमें अपने फोन को सुरक्षित रखना चाहिए तथा ब्लूटूथ एवं वाईफाई जैसे एप्लीकेशन को आवश्यकता न होने पर बंद कर देना चाहिए। कार्यक्रम के अंत में मुमुक्षु शिक्षा संकुल के अधिष्ठाता स्वामी चिन्मयानंद ने आशीर्वचन देते हुए कहा कि आज देश की तरुणाई साइबरक्राइम से बुरी तरह प्रभावित हो रही है। तकनीकी का यदि सदुपयोग हो तो समाज लाभान्वित होगा, इसके विपरीत तकनीकी के दुरुपयोग से समाज को क्षति होगी। 

    मंच संचालन डॉक्टर शिशिर शुक्ला ने एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉ हरीश चंद्र श्रीवास्तव ने किया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान से हुआ। कार्यक्रम में डॉ आदित्य सिंह, डॉ आलोक मिश्रा, डॉ आलोक सिंह, डॉ शालीन कुमार सिंह, डॉ आदर्श पांडे, डॉ अरुण यादव, डॉ  रजत सिंह,  डॉ सुमित त्रिवेदी , डॉ राजेश सक्सेना , डॉ अंकित अवस्थी , डॉ विनीत श्रीवास्तव , डॉ शैलजा मिश्रा , डॉ अर्चना गर्ग,  विपुल दीक्षित, अवनीश चौहान सहित अनेक शिक्षक शिक्षिकाएं एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

    फ़ैयाज़ उद्दीन 

    Initiate News Agency (INA) , शाहजहाँपुर

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.